अमेरिका ने दिये देवयानी को राहत के संकेत

अमेरिका में देवयानी खोब्रगड़े को आरंभिक जांच से छुटकारा मिलने के संकेत अमेरिका ने दिये हैं.

देवयानी का तबादला यूएन मिशन में कर दिया गया है

देवयानी का तबादला यूएन मिशन में कर दिया गया है

देवयानी को पिछले दिनों कथित वीजा धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार किया गया था उसके बाद भारत ने उन्हें गिरफ्तार करने और उनके साथ राजनयिक की गरिमा के खिलाफ बर्ताव करने पर जोरदार ढ़ंग से विरोध किया था.

इंडियन एक्सप्रेस की खबरों में बताया गया है कि खोब्रागड़े के प्रति अमेरिकी रवैइए में नर्मी के संकेत हैं लेकिन अभी तक इस बात की अधिकृत पुष्टि होना बाकी है.

इस कदम से खोब्रागड़े को फिंगरप्रिंट और अन्य मेडिकल जांच से दोबारा गुजरना पड़ता लेकिन अब उन्हें इन जांचों से छुटकारा मिल सकती है. सोमबार तक इस मामले में विधिवत फैसला हो सकता है.

अमेरिका में तैनात भारतीय राजनयिक देवयानी खोब्रागडे से बदसलूकी के बाद भारत में इस मुद्दे पर सड़क से लेकर संसद तक गुस्सा भड़क गया है. राष्ट्रवादी शिवसेना कार्यकर्ताओं ने अमेरिकी दूतावास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, वहीं,बुधवार को संसद के दोनों सदनों- राज्यसभा और लोकसभा – में कई नेताओं ने देवयानी के साथ हुई बदसलूकी के लिए अमेरिका पर भरपूर प्रहार किया.

इधर विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘भारत असरदार ढंग से इस मामले में दखल देगा और यह सुनिश्चित करेगा देवयानी की गरिमा और सम्मान बरकरार रहे.’ खुर्शीद ने ऐलान कर दिया कि वे तब तक संसद नहीं आएंगे जब तक देवयानी को सकुशल भारत वापस नहीं लाया जाता.

देवयानी खोब्रागडे के साथ बदसलूकी के बाद भारत के कड़े रुख के बावजूद संसद में सभी दलों के नेताओं अमेरिका को करारा जवाब देने की मांग की.

बसपा अध्योक्ष मायावती का आरोप है कि चूंकि महिला डिप्लोसमैट दलित समुदाय से हैं, इसलिए केंद्र सरकार ने इस मसले पर कार्रवाई करने में देर कर दी.उधर मुलायम सिंह यादव ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा, ‘क्या है अमेरिका? धमाका हुआ वहां, तो थर-थर कांपता है अमेरिका अरब देशों से. नंगा कीजिए उन लोगों को भी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*