आईपीएस सतीश के खुलासे से खलबली: पूर्वनिर्धारित थी इशरत की हत्या

इशरत जहां मामले में छिड़े  विवादों के बीच आईपीएस अफसर सतीश वर्मा ने एक नया खुलासा करके सनसनी फैला दी है कि इशरत की हत्या पूर्वनिर्धारित थी.

सतीश वर्मा एसआईटी के सदस्य थे( फोटो इंडियन एक्सप्रेस)

सतीश वर्मा एसआईटी के सदस्य थे( फोटो इंडियन एक्सप्रेस)

सतीश वर्मा सीबीआई जांच से जुड़े अफसर थे. इंडियन एक्सप्रेस में दिप्तिमान तिवारी ने अपनी रिपोट में लिखा है कि वर्मा ने इंडियन एकसप्रेस को बताया कि  “हमने अपनी जांच में पाया कि आईबी ने इशरत और उसके दो अन्य साथियों को हत्या के एक दिन पहले उठा लिया था. दर असल आईबी के पास इस तरह की कोई इनपुट नहीं थी कि वह आतंकवादी है. इशरत के बारे में भी कोई इनपुट नहीं था. ये तीनों गैरकानूनी तरीके से हिरासत में रखे गये और फिर उन्हें गोली मार दी गयी”.

  • इशरत को गोली मारी गयी
इन दिनों इशरत के नाम पर राष्ट्रवाद और सुरक्षा के मुद्दे उठाये जा रहे हैं ताकि उसके राजनीतिक लाभ लिये जा सकें.

गौरतलब है कि सतीश वर्मा गुजरात हाईकोर्ट द्वारा नियुक्त  विशेष जांच दल( एसआईटी) के सदस्य थे. इशरत को 15 जून 2004 को दो अन्य लोगों के साथ गोली मार दी गयी थी. उन पर आरोप लगाया गया था के वे लश्कर ए तैयबा के सदस्य थे. इस संबंध में पूर्व गृह सचिव जीके पिलै ने टाइम्स नाऊ को बताया था कि उन लोगों को आईबी ने फंसाया था.

वर्मा ने अखबार को यह भी बताया कि इन दिनों इशरत के नाम पर  राष्ट्रवाद और सुरक्षा के मुद्दे उठाये जा रहे हैं ताकि उसके राजनीतिक लाभ लिये जा सकें.

One comment

  1. आज कन्हैया कुमार ने अपने जेल के अंदर हुए अनुभव को, अपने जवाहर लाल नेहरू विश्वविधयालय के साथियों के साथ शेयर किया और उसने साफ शब्दों में कहा कि संघ,विश्व हिन्दू परिषद, अखिल विद्यार्थी परिषद और अन्य कट्टरवादी संगठन भारत को ऐसा देश बनाना चाहते हैं जो सोच के डर लगता है/ ” वह देश कैसा होगा जिस देश में उसके अपने लोग ही न रहें” / आज हर अम्बेडकरवादी को ये नजर आता है / मैं भारत के ऎसे सपूत को अभिनन्दन करता हूँ / जय भीम ,लाल सलाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*