आखिरकार नौकरशाहों ने गलती सुधारी, अब ब्लॉक में ही राशन कार्ड के लिए आवेदन

-खाद्य और आपूर्ति विभाग के दिसम्बर में जारी आदेश के कारण पुरे बिहार में मचा था हंगामा

-पहले एसडीओ ऑफिस आना होता था. अब नहीं आना होगा, 30 दिनों के अंदर मिलेगा राशन कार्ड  

विभाग ने जारी किया नया सर्कुलर

विभाग ने जारी किया नया सर्कुलर

नौकरशाही ब्यूरो
आख़िरकार जब पूरा प्रदेश खाद्य और आपूर्ति विभाग के अधिकारियो की गलती के कारण राशन कार्ड बनाने के लिए गांव और कस्बों से अनुमंडल और समाहरणालय में पहुंच गया. जब भीड़ को कण्ट्रोल करने के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी. महिलाएं जान की बाज़ी लगाती दिखीं तो नौकरशाहों की नींद खुली और राशन कार्ड बनाने के लिए नियमों को ही चेंज कर दिया गया.
विभाग ने जारी किया नया सर्कुलर
राशन कार्ड के लिए आवेदन अब प्रखंड कार्यालयों में भी जमा होंगे. राशन कार्ड बनवाने को लेकर अनुमंडल कार्यालयों पर आवेदकों की लगातार हो रही को देखते हुए खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने यह कदम उठाया. आवेदकों को हो रही परेशानी के बाद विभाग ने गंभीरता दिखाते हुए सूबे में राशन कार्ड स्वीकार करने की प्रक्रिया को ही पूरी तरह बदल दिया. खाद्य और उपभोक्ता संरक्षण विभाग के अपर सचिव भरत कुमार दुबे ने बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन के निदेशक डॉ प्रतिमा को यह आदेश दिया कि प्रखंड स्तर पर ही आवेदन प्राप्त किया जाये.

दिसंबर, 2016 में बदली गयी थी प्रक्रिया

सामान्य प्रशासन विभाग ने दिसंबर, 2016 में राशन कार्ड के लिए आवेदन देने की प्रक्रिया में बदलाव किया था. इसमें तीन नयी सेवाओं को जोड़ा गया था जिसमें नया राशन कार्ड बनाना, राशन कार्ड में संशोधन करना और राशन कार्ड को रद्द करना शामिल था. इसी के तहत आवेदन लिए जो रहे थे. जिसमें काफी भीड़ उमड़ रही थी.
अभी लगातार बनेगा राशन कार्ड, नहीं है कोई अंतिम तिथि

कुछ लोग यह अफवाह फैला रहे हैं कि इस बार जो राशन कार्ड बनेगा, वह ऑरिजिनल होगा. हकीकत यह है कि राशन कार्ड लगातार बनाया जायेगा. जो लोग भी सामाजिक और आर्थिक सर्वेक्षण में छूट गये, उनका कार्ड बनाया जाना है. सामाजिक और आर्थिक सर्वेक्षण के तहत चिह्नित ऐसे सभी परिवारों का राशन कार्ड बनना है. हरेक पीएचएच परिवारों को राशन कार्ड दिया जाना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*