आखिर क्‍यों तेजस्‍वी ने सीएम नीतीश कुमार को कहा – नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह, जानिये यहां

मुजफ्फपुर बालिका गृह मामले में बिहार की सियासत काफी उबाल पर है. इस मामले में हाईकोर्ट ने भी स्‍वत: संज्ञान ले लिया है और केंद्रीय गृह मंत्री पहले ही कह चुके हैं कि अगर राज्‍य सरकार सीबीआई जांच की अनुशंसा करे तो केंद्र तैयार है. बावजूद इसके बिहार के डीजीपी ने सीबीआई जांच से साफ मना कर दिया. मगर मामले में सियासत जमकर देखने को मिल रही है. नेता विपक्ष ने इस मामले को लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को नैतिक भ्रष्‍टाचार के भीष्‍म पितामह तक करार दे दिया.

नौकरशाही डेस्‍क

तेजस्‍वी ने ट्विटर पर लिखा – ‘इसलिए मैं कहता हूँ नीतीश जी नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह है. बालिका गृह में 29 बच्चियों के साथ बलात्कार, हत्या और मानवीय मूल्यो को शर्मसार करने वाली घटना के बावजूद इनकी मानवीय संवेदना शून्य होकर अनैतिकता की पराकाष्ठा पार कर चुकी है. आरोपियों के बचाने के लिए CBI से भाग रहे है.’ तेजस्‍वी ने फोटो के जरिये कहा कि देश में एक निर्भया से भूचाल आ गया था. लेकिन यहां तो 29 निर्मम लड़कियों के साथ बलात्‍कार हुआ है. मैं हैरान हूं जिंदा समाज इसे कैसे सहन कर रहा है?

बता दें कि बुधवार को तेजस्‍वी यादव, पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी और अब्‍दुलबारी सिद्दिकी के साथ मुजफ्फरपुर बालिका गृह गए थे, जहां से उन्‍होंने सीएम नीतश कुमार पर जमकर हमला बोला था और उनपर आरोपियों को बचाने का भी आरोप लगाया था. इस दौरान उन्‍होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल पूछे है और कहा कि अगर नीतीश कुमार दोषी नहीं है तो सवालों के जवाब दें.

1 – मुख्यमंत्री बताएँ दो महीने होने के बावजुद मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को रिमांड पर क्यों नहीं लिया गया है ?
2 – पुलिस कह रही है कि वह पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहा है ? फिर क्यों नहीं सरकार द्वारा हाईकोर्ट जाकर उसकी कड़ी रिमांड की माँग की जाए ?

3 – मुख्यमंत्री बताएँ अगर उनकी मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से मिलीभगत नहीं है तो उनके अधीन पुलिस ने उसके Linkage का Analysis क्यों नहीं किया है ?

4 – नीतीश कुमार जी को ब्रजेश ठाकुर की विगत एक साल की Call Details सार्वजनिक कराने में क्या दिक़्क़त है?
5 – मुख्यमंत्री बताएँ “समाज कल्याण विभाग” की F.I.R. में मुख्य आरोपी और अन्य का नाम क्यों नहीं है ?
6 – कई महीनों से नादान बच्चियों का बलात्कर हो रहा था तब समाज कल्याण विभाग और पुलिस विभाग क्या कर रहा था?

7 – प्रशासन बताएँ किस केन्द्रीय मंत्री, किस बरिष्ठ भाजपाई नेता और किन जदयू नेताओ ने अधिकारियों को फोन कर जाँच प्रभावित करने का दबाव बनाया है?

8 – जब हर महीने न्यायिक अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी, समाज कल्याण अधिकारी बालिका गृह का निरीक्षण करते थे तो फिर महीनों से चला आ रहा यह महापाप उनकी पकड़ में क्यों नहीं आया ?

9 – सरकार फिर भी उस NGO को करोड़ों का अनुदान क्यों देती रही ? नियमों के उल्लघंन Shelter Home क्यों चल रहा था?

10 – मुख्यमंत्री जी, बच्चियों को आश्रय देने वाली जगह ही अगर उनका बलात्कार होता रहेगा, यातनाएँ दी जाती रहेंगी, हत्या होती रहेंगी तो फिर राज्य का क्या होगा ?

11 – देश में एक ‘निर्भया’ से भूचाल आ गया था। लेकिन यहाँ तो 29 नादान लड़कियों का निर्मम बलात्कार हुआ है। मैं हैरान हूँ जिंदा समाज इसे कैसे सहन कर रहा है?

12 – नीतीश कुमार जी, क्या यह सच नहीं है कि ब्रजेश ठाकुर आपकी चुनावों सभाओं में आपका मंच संचालन करता था ? आप उसके घर भोजन करने जाते थे ?

13 – आरोपी खुद ही खुद की जाँच कर रहे है?

14 – क्या आरोपियों के मोबाईल फोन की Forensics जाँच हुई है या नहीं ? क्योंकि Forensics जाँच से ही Deleted SMS और Whatsaap Data की Details मिलेंगी?

15 – CCTV’s or DVR को Immediate Seize किया जाना चाहिए । सभी आरोपियों के Contacts से भी गहन पूछताछ करनी होनी चाहिए।

  1. अगर कुछ ग़लत नहीं हुआ और इनकी मिलीभगत नहीं है तो नीतीश कुमार सीबीआई जाँच से क्यों भाग रहे है?

जवाब दें!

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*