आखिर नीतीश के ‘सपने’ के पास पहुंच ही गये सुशील 

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी आज नीतीश कुमार के सपने को साकार करने के करीब पहुंच गये। सीएम अपने जूनियर मोदी को पूर्व जूनियर तेजस्वी यादव के आवास में ‘प्रतिस्थापित’ करना चाहते हैं। इसके लिए सरकार ने कोर्ट तक लड़ाई लड़ी और जीत ली। तेजस्वी आवास यानी 5 सकुर्लर रोड। इसे 5 देशरत्न मार्ग भी कहा जा सकता है। इस आवास का दरवाजा पहले देशरत्न मार्ग पर ही था। लेकिन उपमुख्यमंत्री के रूप में जब यह आवास तेजस्वी यादव को आवंटित किया गया तो इसका एक दरवाजा सर्कुलर रोड की ओर बना दिया गया ताकि 10 सर्कुलर रोड यानी राबड़ी देवी आवास में आने-जाने में सुविधा हो।

वीरेंद्र यादव 

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आज इसी आवास के पीछे अवस्थित डेनियल पार्क में पत्रकारों के लिए भोज का आयोजन किया था। साल में एक बार मोदी संक्रांत के बाद मीडिया के लिए भोज देते हैं। मीडिया मैनेजमेंट का उनका अपना तरीका है। मोदी ने मीडिया भोज अपने पदनाम से आवंटित 5 सर्कुलर उर्फ 5 देशरत्‍न मार्ग की दीवार के पीछे स्थि‍त पार्क में दिया। काफी आकर्षक है यह पार्क। मनमोहन फुलों से लहलहा रहा है पार्क। भवन निर्माण विभाग के अधीन आने वाले पार्क का रखरखाव वन एवं पर्यावरण विभाग कर रहा है।

दरअसल सुशील मोदी 5 सर्कुलर रोड में ‘प्रतिस्थापित’ होने का पूर्वाभ्यास कर रहे हैं। इसीलिए आवास के बगल में भोज का पंडाल खड़ा कर दिया गया। सीएम ने पहले ही उपमुख्यमंत्री को छोटा-सा मकान अस्थायी रूप से आवंटित कर ‘सड़क’ पर ला दिया है। मीडिया भोज का ‘बड़ा सपना’ छोटे मकान में नहीं अट पा रहा था। पहले भोज का आयोजन इको पार्क के पास मंत्री प्रमोद कुमार के आवास पर आयोजित किया गया था, लेकिन समाजवादी नेता जार्ज फर्नांडीज के देहांत के कारण स्थगित कर दिया गया था। दूसरी तैयारी में भोज का स्थान 5 सर्कुलर रोड के बगल में चुना गया, ताकि मुख्यमंत्री को लगे कि सुशील मोदी एकदम पड़ोस में आ गये हैं और दूरी सिर्फ दीवार की रह गयी है। सीएम का सपना साकार होने वाला है। लेकिन सीएम के पूर्व जूनियर अभी 5 नबंर छोड़ने के मूड में नहीं हैं।

पकवान बनाने वाली टीम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आयी थी। भोजन के लिए चर्चित है यह टीम। संक्रांत के बाद लगन शुरू हो जाता है, इसलिए समय का निर्धारण भी लगन देख कर किया जाता है। खाने के लिए कम से कम आठ आयटम थे। इसमें दही-चूड़ा के अलावा सब फास्ट–फूड ही था। सब सामान गरमारम। फुलों से लहलहा रहे इस पार्क में भोज की शुरुआत हमने दही और भूरा से की। इसके बाद अन्य पकवानों में हाथ लगाया। मीडिया भोज में पत्रकारों के अलावा भाजपा के कई मंत्री और पार्टी पदाधिकारी भी शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*