आठवाले ने आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों के लिए आरक्षण की मांग की

केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने आज कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को भी आरक्षण दिये जाने के वह पक्षधर हैं और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की बैठक में भी उन्होंने यह मांग की है। 

रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केन्द्रीय मंत्री श्री अठावले ने यहां बिहार केसरी श्रीकृष्ण सिंह की 131वीं जयंती एवं कृषक समागम समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को भी आरक्षण मिलना चाहिए। ऐसे सवर्णों को आरक्षण की सुविधा मिले इसके लिए वह राजग की बैठक में भी मांग कर चुके है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि सवर्णों को 25 प्रतिशत आरक्षण मिले।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति-जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को मिल रहे आरक्षण में बगैर छेड़छाड़ किये आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को भी आरक्षण मिलना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष भी उन्होंने अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर किसी जाति का नहीं बल्कि ब्राह्मणवाद का विरोध करते थे। समाज से विषमता का दूर होना आवश्यक है।

श्री अठावले ने कहा कि बिहार भगवान बुद्ध की भूमि है और यहीं बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री बिहार केसरी श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। श्री बाबू के समय दलितों को न्याय मिला था। उन्होने कहा कि राजग सरकार कभी भी दलित विरोधी नहीं रही है। अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करनी है और फिर से श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है। केन्द्र की सरकार श्रीबाबू के सपने को पूरा करने के लिए सबका साथ सबका विकास के मूलमंत्र पर चल रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी पार्टी सिर्फ राफेल का रट लगाने में लगी है। कांग्रेस अध्यक्ष को सिर्फ राफेल दिखाई दे रहा है। उन्होंने अपने विशेष अंदाज में कहा कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में ‘कांग्रेस का बजा देंगे बाजा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*