आपका पासपोर्ट बनाने कॉलेज में पहुंचेगा पासपोर्ट ऑफिस

-अब स्टूडेंट्स के लिए पासपोर्ट बनाना हुआ आसान
– राज्य के यूनिवर्सिटी और कॉलेज के छात्रों का आसानी से बनेगा पासपोर्ट
– विदेश मंत्रालय स्टूडेंट कनेक्ट योजना के तहत शुरू करेगा काम
– प्रदेश के 15 प्रतिष्ठित संस्थानों को दी गयी जानकारी, कैंप लगाकर होगा काम,
नौकरशाही डेस्क, पटना

आपका पासपोर्ट बनाने कॉलेज में पहुंचेगा पासपोर्ट ऑफिस

आपका पासपोर्ट बनाने कॉलेज में पहुंचेगा पासपोर्ट ऑफिस

अाप अक्सर यह देखते या सुनते होंगे कि जब किसी स्टूडेंट का प्लेसमेंट होता है या फिर उसे विदेश में नौकरी का ऑफर मिलता है तो उसके पास पासपोर्ट ही नहीं होता है. इस दौरान या तो स्टूडेंट परेशान होते हैं या फिर वे शॉर्टकट ढूंढते हैं. इन सभी वजहों से वे कई बार अपने विदेश जाने के सपने को पूरा कर पाने में असमर्थ भी हो जाते हैं. इन सब परेशानियों को दूर करने के लिए विदेश मंत्रालय स्टूडेंट के लिए एक विशेष योजना लेकर आया है. ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देने के लिए स्टूडेंट कनेक्ट योजना लांच की गयी है. इसके पहले चरण के तहत बिहार के प्रीमियर शैक्षणिक संस्थानों को यह जानकारी दे दी गयी है कि वे अपने स्टूडेंट को इसका लाभ दे सकते हैं. पटना सहित हाजीपुर, समस्तीपुर, बोधगया, मोतिहारी जैसे शहरों के प्रमुख कॉलेजों व विश्वविद्यालयों में पासपोर्ट विभाग के अधिकारी खुद जायेंगे और डिग्री व इंजिनियरिंग स्टूडेंट्स को स्टडी के दौरान ही पासपोर्ट बनवाने के लिए प्रेरित करेंगे. वह पासपोर्ट बनवाने के आसान तरीके बताने के लिए बड़े शिक्षण संस्थानों में जाकर छात्रों से सीधा सम्पर्क करेंगे. रीजनल पासपोर्ट ऑफिस ने सभी प्रमुख शिक्षण संस्थानों को इसके लिए जल्दी अपनी सहमति देने के लिए कहा है, जैसे ही वे इसपर अपनी हरी झंडी देंगे सभी विद्यार्थियों को कैंप लगाकर अप्लाय कराया जायेगा और उनके कागजात को वेरिफाई करने के बाद पुलिस वेरिफिकेशन के लिए भेज दिया जायेगा. रिजनल पासपोर्ट अॉफिस जल्दी पासपोर्ट दिलाने के लिए पुलिस विभाग से सहयोग करते हुए वेरिफिकेशन कराकर सभी को पासपोर्ट सौंप देगी. बिहार के क्षेत्रीय पासपोर्ट पदाधिकारी शत्रुघ्न सिन्हा कहते हैं कि कॉलेज स्टूडेंट केवल ऑनलाइन अप्लाय करेंगे और हम स्पेशल एरेंजमेंट कर देंगे. कॉलेजों में कैंप लगाने से लेकर उन्हें लाइन में लगना नहीं पड़े, इसके लिए व्यवस्था होगी. इसके साथ ही जल्दी से उन्हें पासपोर्ट मिल जाये, इसके लिए पुलिस वेरिफिकेशन सिस्टम को भी को-अार्डिनेट करेंगे.
पहले चरण में इन कॉलेजों के विद्यार्थियों का बनेगा पासपोर्ट-
-आइआइटी, पटना
-एनआइटी, पटना
-आइआइएम, बोधगया
-चाणक्य लॉ यूनिवर्सिटी, पटना
-निफ्ट, पटना
-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मासियुटिकल्स, हाजीपुर
-एम्स, पटना
-बीआइटी मेसरा, पटना ब्रांच
-आइआइएचएम, हाजीपुर
-डेयरी टेक्नोलॉजी इंस्टीटयूट, पटना
-महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी, मोतिहारी
-पीएमसीएच
-आइजीआइएमएस
-चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान, पटना
-राजेंद्र प्र कृषि विवि, पूसा, समस्तीपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*