आरोपों की सीबीआई जांच करवा लें नागमणि

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने उन पर बिहार की मोतिहारी लोकसभा सीट की पार्टी टिकट नौ करोड़ रुपये में बेचने के पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि के आरोपों पर आज कहा कि इन दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके अंतरंग संबंध हैं, इसलिए वह इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा राज्य सरकार से करवा दें।

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री कुशवाहा ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा कि आजकल बड़े भाई नागमणि की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ काफी करीबी संबंध हो गये हैं। इसलिए मैं नागमणि से आग्रह करता हूं कि उन्होंने मेरे ऊपर जो कथित आरोप लगाये हैं, उसकी जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो कराने के लिए बिहार सरकार से अनुशंसा करवा दें।

श्री कुशवाहा ने कहा कि बड़े भाई ने आज मेरे ऊपर कई आरोप लगाए हैं। मैं उनके प्रति आभार प्रकट करता हूं कि उन्होंने आरोपों की सच्चाई के लिए सीबीआई से जांच कराने की मांग भी की है। मैं भी उनकी इस मांग का पुरजोर समर्थन करता हूं। बड़ी कृपा होगी यदि वह इस मामले की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जांच की अनुशंसा करवा दें। उनके लिए मुख्यमंत्री से नवस्थापित उनकी अंतरंगता की भी पुष्टि का सुनहरा अवसर है।

इससे पहले राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष के पद से पिछले दिनों हटाए गए पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने आरोप लगाया था कि रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार की मोतिहारी लोकसभा सीट की टिकट को नौ करोड़ रुपये में बेच दिया है। श्री नागमणि ने रालोसपा से निष्कासित राष्ट्रीय महासचिव प्रदीप मिश्रा की उपस्थिति में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उपेंद्र कुशवाहा ने मोतिहारी लोकसभा की सीट से श्री मिश्रा को उम्मीदवार बनाने का आश्वासन दिया था। इस लोकसभा सीट से श्री मिश्रा को उम्मीदवार बनाए जाने के एवज में श्री कुशवाहा ने उनसे 45-45 लाख रुपये भी लिये हैं। उन्होंने इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराये जाने की मांग करते हुये कहा कि इसके बाद ही सही तथ्यों की जानकारी लोगों को मिल सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*