इमरान खान की छह कसमें

पाकिस्तान में नेशनल असेम्बली के चुनाव का बिगुल बज चुका है.इस बीच पाकिस्तान तहरीक इंसाफ के चेयरमैन इमरान खान ने पाकिस्तान की जनता के सामने छह वादे किये हैं.

उन्होंने लाहौर में चनावी अभियान की शुरुआत एक रैली से की उन्होंने कहा कि अगर मैं अपने वादे पूरे न कर सकूं तो उन्हें (पीटीआई) पाकिस्तान तहरीक इंसाफ के चेयरमैन के ओहदे से हटा दिया जाये.
क्या हैं छह वादे-

1. मेरा पहला वादा है कि मैं आपसे( पाकिस्तानी अवाम) हमेशा सच बोलूंगा और वह बात करूंगा जो मैं कर सकता हूं. उन्होंने कहा कि वोट लेने के लिए वह कोई डरामेबाजी नहीं करेंगे.

2. पाकिस्तान में जुल्म खत्म करने के लिए जिहाद करेंगे- मौजूदा व्यवस्था नहीं चलने की सबसे बड़ी वजह कि पाकिस्तान में जुल्म का निजाम है. उन्होंने कहा कि यूरोप की व्यवस्था सुचारू रूप से इसलिए चलती है कि वहां इंसाफ पर अधारित निजाम है. मैं वादा करता हूं कि महिलाओं, मजदूरों और मजलूमों को जुल्म से निजात दिलाऊंगा.

3 इमरान ने तीसरा वादा करते हुए कहा कि मेरा सबकुछ इसी मुल्क में होगा. मैं इसी मुल्क मे जीउंगा और इसी में मरूंगा. मेरा पैसा इसी मुल्क में रहेगा और मैं किसी भी हाल में अपना पैसा विदेशों में जमा नहीं करूंगा.
4.इमरान ने चौथा वादा करते हुए कहा कि पाकिस्तान में खानदानी सियासत का खात्मा करेंगे और विश्वास दिलाया कि सत्ता से न तो वह खुद फायदा उठायेंगे और न ही किसी रिश्तेदार को उठाने देंगे.

5. इमरान ने कहा कि मैं पाकिस्तान की जनता के टैक्स की रक्षा करेंगे. उन्होंने कहा जनता के पैसे का खर्च मुख्यमंत्री या गवर्नर हाउस पर खर्च नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आई तो गर्वनर और मुख्यमंत्री हाउस की दीवारें तोड़ कर लाइब्रेरी बनायेंगे.

6. इमरान ने छठा वादा करते हुए कहा कि मैं पाकिस्तान से बाहर बसे पाकिस्तानियों की हिफाजत करेंगे.

अदर्स वायस कॉलम के तहत हम अन्य मीडिया में प्रकाशित खबरों को छापते हैं. पाकिस्तानी अखबार जंग और बीबीसी उर्दू से साभार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*