उलटा तो नहीं पड़ गया राजद तोड़ने का दांव?

राष्ट्रीय जनता दल विधायकों के पार्टी छोड़ने से मचे कोहराम की दिशा उलटी पड़ती जा रही है खबर है कि लालू प्रसाद के नेतृत्व में 13 में से 9 विधायकों ने विधानसभा मार्च कर स्पीकर को बताया है कि उनकी पार्टी तूटी नहीं है.lalu

कल खबर आयी थी कि राजद के 13 विधायकों ने विधनसभा में बैठने के लिए अलग व्यवस्था की मांग की थी. लेकिन इसके कुछ ही घंटों बाद 6 विधायक लालू यादव के आवास पहुंचे और पार्टी के प्रति अपनी वफादारी व्यक्त की.

पहले जिन 13 विधायकों ने राजद छोड़ने की बात की गयी थी उनमें- डॉ. फैयाज अहमद, रामलखन रामरमण, अख्तरूल इमान, चंद्रशेखर, डॉ. अब्दुल गफ्फूर, ललित यादव, जितेन्द्र राय, अख्तरूल इस्लाम शाहीन, दुर्गा प्रसाद सिंह, सम्राट चौधरी, जावेद अंसारी, अनिरूद्ध कुमार और राघवेन्द्र प्रताप सिंह शामिल थे. हालांकि बाद में छह विधायकों ने लालू के प्रति आस्था व्यक्त करके कहा कि उनके नाम उनकी सहमति के बिना लिख लिये गये. 13 विधायकों में से छह अख्तर उल इस्लाम शाहिन, अब्दुल गफ्फूर, ललित कुमार यादव, , चंद्रशेखर, दुर्गा प्रसाद सिंह और फैयाज अहमद को मीडिया के समक्ष पेश हो कर कहा कि वह राजद के साथ हैं.

लेकिन आज लालू प्रसदा के नेतृत्व में 13 में से 9 विधायक लालू के साथ बताये गये हैं.
इस प्रकार अब केवल सम्राट चौधरी, राघवेंद्र प्रताप सिंह, जावेद अंसारी और दुर्गा प्रसाद सिंह ही राजद से अलग हैं.

इस बीच खबर आ रही है कि जब लालू प्रसाद के नेतृत्व में राजद के 9 विधायक विधानसभा पहुंच तो विधान सभा अध्यक्ष अपने चैम्बर से चले गये. इधर खबर है कि ये विधायक राज्यपाल के समक्ष पेश हो कर अपनी एकजुटता दिखा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*