एड्स के बाद अब सेक्स सुपरबग से मचेगा कोहराम

1981 में एड्स का पहला मामला अमेरिका में पता चलने के बाद अब उससे भी खतरनाक बीमारी एड्स सुपरबग का कोहराम दुनिया में मच सकता है.Couple in Bed

वैज्ञानिकों का कहना है कि एड्स सुपरबग का बैक्टेरिया एड्स से भी तेज गति से फैलता है पर अभी तक इसके बचाव की तैयारी नहीं है.

अमेरिका राज्‍य हवाई में ‘सेक्‍स सुपरबग’ के दो मामले सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है. डॉक्‍टरों ने चिंता जताई है कि ‘सेक्स सुपरबग’ एड्स से भी ज्‍यादा जानलेवा है और उन्‍होंने अमेरिकी कांग्रेस से इसकी रोकथाम के लिए 54 मिलियन डॉलर की राशि की मांग की है, ताकि इसकी दवा की खोज की जा सके.

नैचुरोपैथिक मेडिसन के डॉक्‍टर एलन क्रिस्‍टीएंसन के मुताबिक, ‘यह एड्स से भी ज्‍यादा खतरनाक हो सकता है क्‍योंकि इसका बैक्‍टीरिया अधिक प्रभावशाली और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को प्रभावित कर सकता है.’

इंटरनेशनल बिजनेस टाइम्‍स के मुताबिक सेक्स सुपरबग को गोनोरिया या H041 के नाम से भी जाना जाता है और इसकी खोज जापान में 2009 में की गई थी. तब एक सेक्‍स वर्कर इस सुपरबग का पहला शिकार बनी थी. हवाई में सेक्‍स सुपरबग का पहला मामला मई 2011 में मिला था और इसके बाद ये कैलीफोर्निया और नॉर्वे तक में फैल गया.

डॉक्‍टर एलन क्रिस्‍टीएंसन का कहना है कि हर साल एड्स और इससे संबंधित बीमारियों से दुनिया भर में 30 मिलियन लोगों की मौत हो जाती है, लेकिन सेक्‍स सुपरबग के इससे भी ज्‍यादा घातक होने की आशंका जताई गई है. उनके मुताबिक, ‘गोनोरिया से संक्रमित होने से सेप्टिक शॉक हो सकता है और कुछ ही दिनों के अंदर इंसान की मौत भी हो सकती है. यब बहुत खतरनाक है.’

हालांकि अभी तक HO41 की वजह से किसी की मौत के मामले का पता नहीं चला है, लेकिन यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने अमेरिकी सरकार से इसकी दवा की खोज के लिए 54 मिलियन डॉलर की मांग की है. स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों का कहना है कि इससे बचने के लिए लोगों में जागरुकता फैलाने बहुत जरूरी है.

डॉक्‍टरों के मुताबिक अगर ‘सेक्‍स सुपरबग’ फैलता है तो इलाज के इजाद होने से पहले ही ये कई लोगों की जान ले लेगा. डॉक्‍टरों ने इससे बचने के लिए लोगों को हमेशा सेफ सेक्स करने की सलाह दी है. साथ ही उनसे कहा गया है कि किसी को भी नए संबंध बनाने से पहले अपने पार्टनर का टेस्ट करा लेना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*