ओपीसीडब्ल्यू को शांति का नोबल, आखिर क्या है यह संगठन

नोबल पुरस्कार की ज्यूरी ने ‘ऑर्गनाइजेशन फॉर द प्रोहिबिशन ऑफ केमिकल वेपन्स’ (OPCW) को नोबल शांति पुरस्कार के लिए चुना है. नोबेल प्राइज जीतने वाला यह दुनिया का 22वां संगठन है.

ओपीसीडब्ल्यू का मुख्यालय हेग में है

ओपीसीडब्ल्यू का मुख्यालय हेग में है

OPCW को रासायनिक हथियारों को खत्म करने की दिशा में काम करने के लिए यह पुरस्कार दिया गया है. नीदरलैंड के द हेग में इस संगठन का मुख्यालय है.

OPCW के बारे में कहा जाता है कि यह वह संगठन है जो सीरिया में कथित रासायनिक हमले के मामले को देख रहा है. यह संगठन संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से सीरिया के कथित रासायनिक हथियारों के जखीरे को खत्म करने के लिए भी काम कर रहा है. ओपीसीड्ब्लू का गठन 1997 में किया गया था. दुनिया भर में इसके 190 सदस्य देश्य हैं. केमिकल विपेन कंवेंशन में शामिल तमाम देश स्वत: इसके सदस्य हैं. अंगोला, बरमा, इसराइल, उत्तरी कोरिया और दक्षिणी सुडान को इस संगठन की सदस्यता नहीं दी गयी है.

इस संगठन में 500 लोग कार्यरत हैं जबकि इसका सलाना बजट 50 मिलियन यूरो है. ओपीसीडब्ल्यू इसके महानिदेशक के अधीन काम करता है.

वैसे तो ओपीसीडब्ल्यू को यूएन से कोई लेना देन नहीं है पर यह संयुक्त राष्ट्र के साथ मिल कर काम करता है.

10 दिसंबर को सौंपा जाएगा पुरस्कारOPCW को 10 दिसंबर को ओस्लो में करीब 7 करोड़ 65 लाख रुपये की इनामी धनराशि सौंपी जाएगी. 10 दिसंबर को ही अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि होती है, जिनके नाम पर यह पुरस्कार दिया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*