कन्हैया को खरोंच नहीं आए, इसलिए होगी पहरेदारी

देशद्रोह का आरोप झेल रहे जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय के छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार की जमानत पर रिहाई के बाद से पुलिस उसकी सुरक्षा को लेकर सतर्क हो गई है। करीब तीन सप्ताह तक तिहाड़ जेल में बंद रहे कन्हैया को दिल्ली उच्च न्यायालय से मिली अंतिरम जमानत के बाद गुरुवार को रिहा कर दिया गया था। उसकी रिहाई के साथ ही दिल्ली पुलिस ने विश्वविद्यालय प्रशासन को बकायदा पत्र लिखकर कहा है कि जब भी कन्हैया विश्वविद्यालय परिसर से बाहर जाए उसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी जाए ताकि उसकी सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। ddd

 
दक्षिणी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त प्रेम नाथ की ओर से विश्वविद्यालय प्रशासन को भेजे गए इस पत्र में कहा गया है कि जेएनयू वसंत कुंज (नार्थ) थाने के अधिकार क्षेत्र में आता है। ऐसे में कन्हैया के कहीं भी आने जाने की वजह, स्थान  और समय के बारे में थाना प्रभारी को सूचित किया जाए ताकि पुलिस उसकी सुरक्षा के लिए समय रहते पर्याप्त इंतजाम कर सके। पत्र में यह भी कहा गया है कि जब भी कन्हैया परिसर से बाहर जाएगा, पुलिस की एक टीम हर वक्त उसके साथ मौजूद रहेगी।

 
कन्हैया की सुरक्षा को लेकर पुलिस की यह तैयारी उच्च न्यायालय के उस आदेश पर है, जिसमें कन्हैया पर पटियाला हाउस अदालत में पेशी के दौरान 17 फरवरी को हुए हमले को गंभीरता से लेते हुए न्यायालय ने कहा था कि देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किसी भी छात्र को एक खरोंच भी नहीं आनी चाहिए। इन छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करना पुलिस का काम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*