किस राजधर्म के पालन के लिए उपवास कर रहे हैं शिवराज चौहान !  

पिछले 10 दिन से मध्यप्रदेश में चल रहे किसान आंदोलन के बीच एक दिन की पूर्व घोषणा के बाद आज प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राजधानी भोपाल के भेल दशहरा मैदान पर शांति बहाली के लिए अनिश्चितकालीन उपवास शुरु कर दिया। इसके पहले उन्होंने अपने उद्बोधन में उपवास का औचित्य बताते हुए स्पष्ट किया कि यह पूरे प्रदेश में शांति बहाली के लिए किया गया है और यह धरना-प्रदर्शन या आंदोलन कतई नहीं है।

उन्होंने कहा कि वे यहीं से पूरे सरकारी कामकाज निपटाएंगे और किसानों के प्रतिनिधियों से चर्चा भी करेंगे। राज्य में हाल ही में किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ मुट्ठी भर लोगों ने इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया है। वे शांति बहाली होने पर ही उठेंगे और इस दौरान राजधर्म का पालन भी किया जाएगा। कभी भावुक और कभी गंभीर अंदाज में दिए अपने संबोधन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आंदोलन चला, पहले दिन से चर्चा की बात कर रहे हैं,  आंदोलन तब जायज है, जब कोई बात न करे, लेकिन मैं (मुख्यमंत्री शिवराज) तो शुरु से ही बात कर रहा हूं।

 
उन्होंने किसी का नाम लिए बगैर कहा कि माहौल बनाया गया, अफवाहें फैलाई गईं, किसानों को भड़काने का काम किया गया और इसी बीच मेरा एक वीडियो भी वायरल किया गया, जिसमें मैं यह कहते हुए दिखाई दे रहा हूं कि मैं किसानों को एक धेला भी नहीं दूंगा, जबकि एक चैनल ने बता दिया कि यह पुराना वीडियो है, जो एक पुराने आंदोलन के दौरान का था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*