केंद्रीय मंत्रियों के अभिनंदन में दिखा भाजपा का ‘मनभेद’

 

पिछले दिनों केंद्रीय मंत्रिपरिषद में हुए विस्‍तार में बिहार के दो सांसदों को जगह दी गयी। आरा के सांसद आरके सिंह को ऊर्जा राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) बनाया गया, जबकि बक्‍सर के सांसद अश्विनी चौबे को स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री बनाया गया। दोनों अपने निर्वाचन क्षेत्र के लिए बाहरी हैं। अश्विनी चौबे भागलपुर के निवासी हैं, जबकि आरके सिंह सुपौल के निवासी हैं।

 वीरेंद्र यादव

 

दोनों मंत्रियों के अभिनंदन के लिए पटना में अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किये गये। 13 सितंबर को श्रीकृष्‍ण मेमोरियल हॉल में अश्विनी कुमार चौबे के लिए भव्‍य अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया। इसमें राज्‍य सरकार के भाजपा कोटे के कर्इ मंत्री मौजूद थे। जबकि 18 सितंबर को भाजपा कार्यालय में आरके सिंह के लिए अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया। इसमें राज्‍य सरकार के किसी भी मंत्री ने शिरकत नहीं की। इसमें अभिनंदन के लिए प्रदेश अध्‍यक्ष नित्‍यानंद राय के साथ पार्टी के कई पदाधिकारी मौजूद थे।

 

केंद्रीय मंत्रियों के अभिनंदन में राज्‍य सरकार के मंत्रियों की उपस्थिति या अनुपस्थिति को लेकर सत्‍ता के गलियारे में कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। दोनों परिस्थितियों की व्‍याख्‍या लोग अपने तरीके से कर रहे हैं। इतना तय है कि पार्टी के स्‍तर पर इस मामले को मतभेद नहीं माना जा रहा है, लेकिन मंत्रियों की उपस्थिति या नदारद होने के फेर में मनभेद से इंकार नहीं किया जा सकता है।

(तस्‍वीर फोटो जर्नलिस्‍ट सोनू किशन की।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*