भारत के टॉप 50 नौकरशाहों की हुई बैठक, 40 मुद्दों पर हुई चर्चा

पूर्वी क्षेत्रीय परिषद की स्‍थायी समिति की बैठक आज चारों राज्‍यों के समन्वित विकास के संकल्‍प के साथ समाप्‍त हुआ। पटना के मुख्‍यमंत्री सचिवालय के सभागार में स्‍थायी समिति की बैठक की अध्‍यक्षता बिहार के मुख्‍य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने की। इस बैठक में बिहार, झारखंड, ओडिया और पश्चिम बंगाल के मुख्‍य सचिव व डीजीपी के अलावा केंद्र सरकार के करीब 40 सचिव स्‍तरीय अधिकारी शामिल हुए।

बिहार ब्‍यूरो प्रमुख

बैठक के बाद मुख्‍य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि प्रशासनिक सुधार व पुलिस के आधुनिकीकरण पर विशेष चर्चा हुई। चारों राज्‍यों के आपसी मुद्दों के अलावा केंद्र व राज्‍य के बीच के मुद्दों पर भी विमर्श किया गया। उन्‍होंने कहा कि इसी महीने के अंत में चारों राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियो की बैठक भी होगी, जिसमें आपसी हितों और आवश्‍यकता पर चर्चा होगी। बैठक के संबंध में गृहसचिव अमीर सुबहानी ने कहा कि इसमें करीब 40 विभागों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई।

 

                                                                                                                                                                              ईस्टर्न जोन काउंसिल की बैठक नवंबर के अंतिम हफ्ते में आूत है जो रोटेशन के तहत पटना,

                                                                                                                                                                                                   बिहार में होगी और मुख्यमंत्री, बिहार इसकी अध्यक्षता करेंगे.

 

इनमें 20 विभाग केंद्र से जुड़े थे और 20 मुद्रे दो राज्‍यों के आपसी संबध से जुड़े हुए थे।

बैठक में डीपीजी पीके ठाकुर, स्‍थायी समिति के सचिव एचके दास, झारखंड के गृहसचिव एनएन पांडेय, पश्चिम बंगाल के वित्‍त सचिव पॉल जहीर, ओडिशा के अतिरिक्‍त सचिव के अलावा केंद्र के कई विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

गृह सचिव आमिर सुबहानी ने  जानकारी दी कि ईस्टर्न जोन काउंसिल की बैठक नवंबर के अंतिम हफ्ते में आूत है जो रोटेशन के तहत पटना, बिहार में होगी और मुख्यमंत्री, बिहार इसकी अध्यक्षता करेंगे.

 

 

कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्‍य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बैठक के एजेंडे पर प्रकाश डालते हुए कहा कि केंद्र व राज्‍य सरकारों के बीच, दो या दो से अधिक राज्‍यों के बीच के कई मुद्दों पर विमर्श और विवाद की संभावना उत्‍पन्‍न होती रहती है। ऐसे ही विवादों के निबटारे व समाधान का मंच साबित होगा आज की यह बैठक। बैठक के बाद शामिल अतिथियों ने संतोष व्‍यक्‍त किया और कहा कि इससे आपसी सामंजस व सहयोग का नया विश्‍वास पैदा हुआ है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*