कैंसर पीड़ितों के दर्द को बांटने बिहार आया नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन

नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन बिहार में कैंसर पीडि़त लोगों के लिए ग्रामीण स्‍नेह फाउंडेशन के साथ मिलकर काम करेगी। ये बात आज पटना के बीआईए सभागार में आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन में नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन की ट्रस्‍टी सह मुंबई की पूर्व सांसद प्रिया दत्त ने कही।

नर्गिश की बेटी हैं प्रिया दत्त

नर्गिश की बेटी हैं प्रिया दत्त

 

उन्‍होंने कहा कि ये मेरा सौभाग्‍य है कि मुझे बिहार में काम करने का मौका मिल रहा है। उन्‍होंने कैंसर को काफी खर्चीला बीमारी बताते हुए कहा कि यहां हमारा फोकस कैंसर खास कर ओरल कैंसर, सर्वाइ‍कल कैंसर और ब्रेस्‍ट कैंसर पर होगा। इसकी शुरूआत हम अवयेरनेस प्रोग्राम और कैंसर डिटेक्‍शन कैंप के साथ करेंगे। इससे पहले प्रिया दत्त ने स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के प्रधान सचिव से भी मुलाकात की। उन्‍होंने बताया कि हर राज्‍य की सरकारें काम करती हैं। गर्वेमेंट का सपोर्ट मिलने से काम करना आसान होता है और उसका दायरा बढ़ जाता है।

प्रिया दत्त ने नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन के बारे में बताया कि इसकी स्थापना सन 1981 में स्व॰ पदमश्री सुनील दत्त द्वारा किया गया। यह संस्था शिक्षा, हेल्थ केयर के साथ ही साथ कैंसर रोगियों की देखभाल पर भी कार्य करती है। उन्‍होंने बताया कि हमने कैंसर को करीब से देखा, जब मेरी मां इसके इलाज के लिए अमेरिका में थी। तब उन्‍होंने पापा से कहा था कि हमारे पास साधन है, तो हम यहां आ गए। मगर देश में हजारों लोग कैंसर के शिकार होकर मर जाते हैं। इसी को ध्‍यान में रखकर नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन बनाया गया। और तब से हम इस फाउंडेशन के तहत काम कर रहे हैं। यह हमारे परिवार का फाउंडेशन नहीं है, बल्कि डोनर व इसमें कार्य करने वाले लोगों का है।

बिहार के स्नेहा फाउंडेशन के साथ मिल कर करेगा काम

 

उन्‍होंने कहा कि नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन वित्तीय सहायता, चिकित्सा शिविर और चिकित्सा नैदानिक उपकरणों के साथ ग्रामीण अस्पतालों को लैस करने के माध्यम से किफायती लागत पर वंचित लोगों के लिए गुणवत्ता स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना के साथ – साथ आर्थिक रूप से वंचित लोगों के लिए भारत के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में शिक्षा को बढ़ावा देना फाउंडेशन का लक्ष्‍य है। इसमें व्यावसायिक प्रशिक्षण, महिला सशक्तिकरण, छात्र छात्रवृत्तियां और समग्र रूप से ग्रामीण विद्यालय विकसित करना शामिल है। फाउंडेशन अस्‍पताल-स्‍कूल बनाती जरूर है, मगर उसे ओन नहीं करती। यह लोगों को दे दिया जाता है। इसके तहत अब तक 100 ग्रामीण अस्‍पतालों में कैंसर केयर मशीनरी और सात राज्‍यों में मोबइल केयर की सुविधा प्रदान की।

वहीं, संवाददाता सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए ग्रामीण स्नेह फाउण्डेशन के सचिव सह आईएएस अधिकारी गंगा कुमार ने बताया कि  नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन तथा ग्रामीण स्नेह फ़ाउंडेशन संयुक्त रूप से एक दिवसीए स्वास्थ्य जाँच शिविर का आयोजन बिहार राज्य के ग्रामीण क्षेत्र के एकंगरसराय, नालंदा में 30 सिंतबर 2018 को संयुक्त रूप से होने जा रहा है। इस शिविर में कैंसर के बचाव एवं कैंसर संबन्धित जागरूकता, महिलाओं की बीमारी, परिवार कल्याण, गर्भावस्था एवं स्त्री कैंसर से संबन्धित, टिकाकरण एवं बाल-मृत्यु रोकथाम से संबन्धित, हड्डी रोग एवं विकलांगता से संबन्धित जागरूकता कार्यक्रम होने जा रहा है। उन्‍होंने बताया कि ग्रामीण स्नेह फ़ाउंडेशन की स्थापना 2009 मे हुई। यह संस्था ग्रामीण स्तर पर दिल्ली-एनसीआर , उत्तर प्रदेश, ओड़ीसा, बिहार एवं झारखंड मे शिक्षा, हेल्थ केयर के साथ ही साथ कैंसर रोगियों की देखभाल पर भी कार्य करती है। नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन एवं ग्रामीण स्नेह फ़ाउंडेशन के संयुक्त प्रयास से बिहारवासियों को  बिभिन्न कार्यक्रमों द्वारा लाभ पहुंचाया जाना है।

श्री कुमार ने कहा कि नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन द्वारा ग्रामीण स्नेह फ़ाउंडेशन को सहायतार्थ रूप मे मोबाइल वैन, कैंसर जागरूकता शिविर एवं स्क्रीनिंग कैंप के साथ ही साथ 10 बेड का कैंसर काउंसिलिंग सेंटर खोलने की योजना है। संवाददाता सम्‍मेलन में नर्गिस दत्त फ़ाउंडेशन द्वारा बिहार और अन्‍य राज्यों मे आगे होने वाले अन्य कार्यक्रमों की जानकारी दी गयी। इस प्रेस वार्ता मे माननीया प्रिया दत्त, पूर्व सांसद, मुंबई, पद्मश्री सम्मानित डॉ॰ जितेंद्र कुमार सिंह, श्री गंगा कुमार, श्रीमति धनमंती देवी, श्री वाशिष्ठ चौबे, मो॰ ओबयदुर रहमान, श्री विनोद चौधरी, मिस डी॰ आलिया आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*