कॉमरेड दीपंकर भट्टाचार्य एक बार फिर से चुने गए CPIML के महासचिव

मानसा में सम्पन्न भाकपा-माले की 10 वीं पार्टी कांग्रेस सफलतापूर्वक संपन्न हो गई. सर्वसम्मति से कॉमरेड दीपंकर भट्टाचार्य एक बार फिर से पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव चुने गए हैं. बिहार से केंद्रीय कमीटी के 17 सदस्य निर्वाचित हुए हैं, जिनमें 9 पहली बार चुने गए हैं.


बिहार से निर्वाचित सदस्यों में कॉमरेड कुणाल, धीरेंद्र झा, अमर, राजाराम सिंह, मीना तिवारी, सरोज चौबे, शशि यादव, महबूब आलम तथा नये सदस्यों में कॉमरेड मनोज मंजिल, राजू यादव, जवाहरलाल सिंह, अरुण सिंह, गोपाल रविदास, अभ्युदय, संतोष सहर, नईमुद्दीन अंसारी व् वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता शामिल हैं.

पार्टी कांग्रेस ने पश्चिमी बंगाल, बिहार और दूसरे स्थानों पर अल्पसंख्यकों पर हिंसा की घटनाओं की कड़ी निंदा की. देश भर में कल आर एस एस द्वारा राम नवमी के त्यौहार के मौके को अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत और हिंसा फ़ैलाने की साजिश के लिए इस्तेमाल किये जाने की कड़ी निंदा की गई. भाकपा माले ने मोदी सरकार द्वारा एस सी/एस टी एक्ट को कमजोर करने के लिए लाए जा रहे संशोधनों को दलित विरोधी बताया और इसके प्रतिवाद में दलित संगठनों द्वारा आयोजित 2 अप्रैल की देश व्यापी हड़ताल का समर्थन किया.

भाकपा माले ने कहा कि पश्चिमी बंगाल और देश के कई अन्य राज्यों में राम नवमी के जुलूस में आर एस एस के उपद्रवियों ने घुस कर उनकी आड़ में एक अल्पसंख्यक मजदूर की हत्या, मौलाना आजाद की प्रतिमाओं को तोडा. पार्टी ने कहा है की यह अल्पसंख्यकों को आतंकित करने एवं हिन्दू बहुलता को भ्रमित करने की साजिश है. जनता को इसका कड़ा विरोध करना चाहिए और अपने त्योहारों को राजनितिक साजिशों का अड्डा बनने से बचाना होगा.

कुमार परवेज़
कार्यालय सचिव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*