कॉल गर्ल के पास SP का मोबाइल, डीआईजी ने 36 घंटे में मांगी जांच रिपोर्ट

कॉल गर्ल सप्लायर के पास SP का मोबाइल मिलने से खाकी हुई दागदार! डीआईजी शिवदीप लांडे द्वारा 36 घंटे में जांच रिपोर्ट मांगे जाने से पुलिस महकमा में हड़कंप.

दीपक कुमार
बिहार ब्यूरोचीफ

मधेपुरा:बिहार के मधेपुरा जिले से डीएसपी मुख्यालय से जुड़ी एक घटना के सामने आने के बाद कोसी क्षेत्र के डीआईजी शिवदीप लांडे ने 36 घण्टे

के अंदर पूरे मामले की जांच का आदेश दिया है. इस मामले की जांच की जिम्मेदारी सुपौल एसपी अमर केस डी को दी गयी है. सुपौल एसपी के नेतृत्व में ही टीम पूरे मामले की करेगी. जांच टीम में डीएसपी और एक इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी को रखा गया है. डीएसपी एजाज हाफिज और पुलिस इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार को भी शामिल किया गया है. वहीं इस जांच टीम में महिला थाना सहरसा की पुलिस अवर निरीक्षक को भी रखा गया है.

दरअसल इन दिनों मधेपुरा डीएसपी का मोबाइल कॉलगर्ल स्प्लायर महिला के पास से बरामद होने की चर्चा इन दिनों पूरे इलाके में है. इसे लेकर एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. कथित गर्ल स्पलायर महिला ने इस वायरल वीडियो में खुलासा किया है कि वह मधेपुरा में कई पुलिस अधिकारियों को लड़कियों की सप्लाई करती रही है.

महिला कर रही दावा- कई बार भेज चुकी है लड़कियां 

वीडियो में महिला ने दावा किया है कि उसने मधेपुरा सदर अस्पताल के सामने डीएसपी मुख्यालय के आवास पर एक लड़की को भेजा था जिसने यह मोबाइल चोरी कर उसे दिया था. महिला का दावा है कि वह और भी पुलिस अधिकारी के पास लड़कियां भेजती रही है. वहीं डीएसपी मुख्यालय में चार बार लड़की भेज चुकी है. महिला के इस दावे से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है.

इस बारे में डीआईजी शिवदीप लांडे से पूछा गया तो उन्होंने यह बात अपने संज्ञान में नहीं होने की बात कही है. हालांकि पूरे मामले में पुलिस महकमे के कटघरे में खड़ा हो जाने के कारण शिवदीप लांडे ने जांच का आदेश भी दिया है. शिवदीप लांडे ने जांच टीम से 36 घंटे के अंदर इस मामले में रिपोर्ट मांगी है. डीआईजी ने टीम को इस बात का भी पता लगाने को कहा है कि जो वीडियो वायरल हुआ है उसे किस पुलिस पदाधिकारी ने रिकॉर्ड किया है और यह वीडियो कहां बनाया गया है? वीडियो बनाने वाले पुलिस अधिकारी के भी भूमिका तय कर उन पर कार्रवाई की जाएगी.

क्या है मामला?

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह मामला उस समय का है जब मधेपुरा के एसपी राजेश कुमार छुट्टी पर थे. उस समय एक बीएसपी को मधेपुरा एसपी का प्रभार सौंपा गया था और उसी दौरान बताया जा रहा है कि डीएसपी साहब कॉल गर्ल के पास पहुंच गए थे और वहां पर उस कॉल गर्ल ने मधेपुरा एसपी की मोबाइल उड़ा ली थी. इस घटना में डीएसपी मुख्यालय आरोपों के घेरे में है और उनके खिलाफ कार्रवाई होनी तय मानी जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*