कोर्ट ने एसएसपी से कहा झूठे हैं आपके एसडीपीओ

कुछ अधिकारियों द्वारा वर्दी की धौंस आम लोगों पर दिखाने की जब लत पड़ जाती है तो वे बेलगाम हो जाते हैं, लेकिन ऐसे ही एक अधिकारी को अदालत ने जोरदार सबक सिखाया है.

मनु महाराज: अपनों के आचरण से आहत

मनु महाराज: अपनों के आचरण से आहत

पटना हाई कोर्ट की पीठ ने एक महिला सुमन के पति के गायब होने के बाद पटना के जानीपुर पुलिस थाने को आदेश दिया था कि वह अभियुकत को गिरफ्तार करे. लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गाया.

इसके बाद थानेदार को कोर्ट ने बुलाया. थानेदार सुभाष प्रसाद ने कोर्ट को बताया कि जब गिरफ्तार करने के बारे में एसडीपीओ इम्तियाज अहमद से कहा गया तो उन्होंने कहा कि “हाईकोर्ट क्या करेगा, जो करना होगा हम करेंगे”.

यह भी पढ़ें-जेल जाते-जाते बचीं डीएसपी ममता कल्याणी

थानेदार के इस बयानसे खफा कोर्ट ने इस पर नाराज होकर कोर्ट ने इम्तियाज अहमद को बुलाया. फिर सीनियर एसपी मनु महाराज को भी तलब किया. और हालत यहां तक पहुंच गयी कि एसडीपीओ इम्तियाज अहमद पर अदालत ने गाज गिराने का फैसला लगभग कर लिया था लेकिन महाधिवक्ता राम बालक महतो के अनुरोध पर कोर्ट ने उन्हें यह कहते हुए छोड़ दिया कि उन्हें आखिरी मौका दिया जाता है.

इस अवसर पर मौजूद एसएसपी मनु महाराज को कोर्ट ने कहा कि आपके अधिकारोयं को झूठ पर झूठ बोलने की आदत सी पड़ गई इनको सुधारिये. पटना के एसएसपी मनू महाराज के साथ यह दूसरा मामला है जब कोर्ट के सामने उन्हें अपने अधिकारियों की करतूतों के कारण शर्मिंदगी उठानी पड़ी है. इससे पहले डीएसपी लॉ एंड आऱ्रडर ममता कल्याणी के झूट को अदालत ने बेनकाब करते हुए फटकार लगायी थी. वह मामला भी अपहरण से जुड़ा था. जिसमें थाने दार ने अदालत को बता दिया था कि डीएसपी मम्ता कल्याणी आरोपी को गिरफ्तार करने से रोक रही हैं.

कोर्ट ने स्पष्ट निर्देश दिया कि पुलिस आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*