कौन हैं ये भारत की पहली महिला जिन्हें होगी फांसी?

आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी होगी.सोनिया नाम की ये महिला हैं कौन? और इनका जुर्म क्या है? आइए जानते हैं.

राष्ट्रपति ने सोनिया की दया याचिका खारिज कर दी है.

सोनिया अपने ही परिवार के लोगों के कत्ल की मुजरिम हैं

सोनिया पंजाब के पूर्व निर्दलीय विधायक रेलू राम पुनिया की बेटी हैं. उन्होंने संजीव सिंह से प्रेम विवाह किया था.यह 29 सितंबर 1998 की बात है.

मगर, इस शादी से पूर्व विधायक और सोनिया के पिता रेलूराम कत्तई खुश नहीं थे.

सोनिया को डर था कि पिता उसे संपत्ति में हिस्सा नहीं देंगे. केस डायरी के अनुसार एक विवाद के दौरान रेलूराम ने सोनिया की पिटाई कर दी थी.इस घटना के बाद सोनिया ने संजीव के साथ मिलकर एक नरसंहार को अंजाम दिया था.

घटना कुछ ऐसे हुई थी.हिसार फार्म हाउस पर सोनिया की बहन प्रियंका के 19वें जन्मदिन जश्न के लिए सब एकत्र हुए थे.

ऐसे हुआ नरसंहार
23 अगस्त 2001 को सोनिया ने पति संजीव के साथ मिलकर अपने पिता रेलूराम, मां कृष्णा, बहन प्रियंका, भाई सुनील, भाभी शकुंतला, उसके तीन मासूम बच्चे लोकेश, शिवानी और मात्र 45 दिन की प्रीति की रात को हत्या कर दी थी.

इस मामले में 31 मई 2004 को हिसार के सेशन कोर्ट ने सोनिया और संजीव को सजा-ए-मौत सुनाई थी. लेकिन एक साल के भीतर ही 12 अप्रैल 2005 को हाई कोर्ट ने फांसी की सजा को उम्रकैद में बदल दिया था.

लेकिन यह याचिका जब सुप्रीम कोर्ट पहुंची तो 15 फरवरी 2007 को सुप्रीम कोर्ट ने सेशन कोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए फांसी की सजा सुनाई.

अब जबकि राष्ट्रपति ने सोनिया-संजीव की याचिका खारिज कर दी है तो यह तय है कि इन्हें फांसी होगी. सोनिया स्वतंत्र भारत में पहली महिला होंगी जिन्हें फांसी की सजा दी जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*