गरीबों के लिए रेलवे का दीनदयालु कोच

भारतीय रेलवे गरीबों के लिये स्वच्छ पेयजल, मोबाइल चार्जर युक्त दीनदयालु कोच बुधवार से पटरियों पर उतरने जा रहे हैं। पहला दीनदयालु कोच दिल्ली के आनंद विहार से गोरखपुर के बीच चलने वाली साप्ताहिक 15058/15057 एक्सप्रेस ट्रेन में लग कर रवाना होगा।19train3 

 

रेलवे बोर्ड में सदस्य (रोलिंग स्टॉक) हेमंत कुमार ने बताया कि यह कोच इस गाड़ी में अतिरिक्त लगाया जायेगा। उन्होंने बजट में घोषित अन्य गाड़ियों के बारे में पूछे जाने पर बताया कि एसी थ्री कोच वाली हमसफर गाड़ी का पहला रैक इसी माह बन कर आ जायेगा और एक सप्ताह के अंदर उसका परिचालन शुरू हो जायेगा। दीनदयालु कोच में बॉयोटॉयलेट और डस्टबिन के साथ पानी पीने के लिए एक्वागार्ड भी लगा है, जो अभी तक किसी भी श्रेणी के कोच में नहीं है। इसमें मोबाइल व लैपटॉप चार्ज करने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्वाइंट लगे हैं। इस कोच में जे-हुक लगे हैं, ताकि सामान को भी आसानी से टांगा जा सके। शौचालय का फर्श पोलिमराइज्ड कोटिंग वाला है।

 

दीनदयालु कोच में सीट गद्देदार हैं। पीयूएफ फोम से बैठने की सीट को कवर किया गया है। ताकि यात्री आराम से सफर कर सके। ऊपर की सीट को भी गद्देदार बनाया गया है। इस कोच में दिव्यांगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आपातकालीन द्वार से लेकर सीट तक में ब्रेल लिपि का उपयोग किया गया है, ताकि आँखों से देखने में अक्षम यात्री ब्रेल लिपि से पढ़कर जानकारी हासिल कर सकें। श्री कुमार ने बताया कि तेजस गाड़ी में उसके स्वरूप में बदलाव किया जाना है और उस पर विनायल रैपिंग की जा रही है। उम्मीद है कि इसी वर्ष तेजस आ जायेगी। उन्होंने बताया कि ये दोनों गाड़ियां प्रीमियम किराया श्रेणी की हैं। उन्होंने बताया कि अनारक्षित कोचों वाली अंत्योदय एक्सप्रेस गाड़ी अक्टूबर में बन कर आ जायेगी। यह एलएचबी कोचों वाली गाड़ी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*