गर्लफ्रेंड के हाथों मारे गये बद्रीश आतंक विरोधी अभियान में माहिर थे

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के जांबाज़ सब इंस्पेक्टर बद्रीश दत्त की हत्या का रहस्य सामने आ गया है.पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि उनकी गर्ल फ्रेंड ने ही उन्हें गोली मारी थी.badrish

बद्रीश दिल्ली पुलिस के काबिल इंस्पेक्टरों में से थे. फोन इंटरसेप्टिंग में माहिर और उत्तम दर्जे के शूटर के रूप में वह चर्चित थे. उन्हें सर्वश्रेष्ठ शूटर का आवार्ड भी मिल चुका था.

यही कारण है कि उन्हें सन 2000 से ही स्पेशल सेल से कहीं ट्रांस्फर नहीं किया गया और सबइंस्पेक्टर से आउट ऑफ टर्न उनका प्रोमोशन किया गया. वर्ष 2002 में अंसल प्लाजा में हुए शूटआउट के दौरान बद्रीश और उनकी टीम ने दो पाकिस्तानी आतंकियों को मार गिराया.

संसद हमले और 2008 में दिल्ली में हुए सीरियल धमाकों के दौरान आरोपियों के फोन इंटरसेप्ट कर उनका पता लगाने में दत्त ने अहम भूमिका निभाई थी.पाकिस्तानी आतंकवादियों की गतिविधियों का पर्दाफाश करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

बद्रीश को एक बेटी है लेकिन पत्नी से अनबन के कारण वह अपनी गर्ल फ्रेंड गीता शर्मा के साथ गुड़गांव में रहते थे. पर यह गुत्थी अभी तक सुलझ नहीं पायी है कि गर्लफ्रेंड ने उन्हें गोली मार कर खुद भी आत्म हत्या क्यों कर ली.

हालांकि बद्रीश के एक निकट सहयोगी का कहना है कि बद्रीश और उनकी पत्नी के बीच सुलह हो रही थी जिसे उनकी गर्लफ्रेंड गीता शर्मा पसंद नहीं करती थी. शायद यही कारण है कि गीता और बद्रीश के रिश्तों में कुछ कड़वाहट आयी हो. पर इस मामले में पुलिस पुख्ता रूप से अभी कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*