गुस्सा तो जैसे इनकी नाक पर रहता है

इनसे मिलिए, ये हैं डा. आरुषि मलिक. राजस्थान के झुझुनू की डीएम हैं, हमेशा अपने मातहतों पर ताव दिखाती हैं और बात-बे-बात फटकार तक लगा देती हैं, लेकिन इस बार इनका ताव उलटा पड़ गया है.

आरुषि:  इस बार गुस्सा रास नहीं आयेगा

आरुषि: इस बार गुस्सा रास नहीं आयेगा

रमेश सर्राफ, राजस्थान से

एक कर्मचारी को, पनी आदत के अनुसार फटकार लगाया. कानोंकान इस घटना की भनक अन्य कर्मियों को लग गयी. बस क्या था जिला कलेक्टर डॉ. आरूषि मलिक के व्यवहार के खिलाफ पूरे जिले के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं.

कर्मचारियों का कहना है कि गुस्सा तो जैसे इनकी नाक पर रहता है. वह कभी भी तैश में आ जाती हैं और भी कर्मचारी उनके सामने होता है उस पर शामत आ जाती है.कर्मचारियों का यह भी आरोप है कि डॉ.आरूषि मलिक कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार करती है. मामला मंगलवार का बताया जा रहा है.

जब एक कर्मचारी फाइल लेकर आया तो डॉ. मलिक ने फाइल फेंककर भला बुरा कहा बताया.

जिसकी भनक बुधवार को कर्मचारियों को लगी तो कलेक्ट्रेट के सभी कर्मचारियों ने हड़ताल शुरूकर दी. वहीं जिले के अन्य उपखंडअधिकारी कार्यालय तथा तहसील कार्यालय के कर्मचारियों ने भी उनके समर्थन में हड़ताल शुरू कर दी हैं.

कर्मचारियों ने एक मांग पत्र मुख्य सचिव को भेजा है, जिसमें तीन दिन में जिला कलेक्टर के तबादले की मांग की गई है. ऐसा नहीं किए जाने तक आंदोलन जारी रखने की बात भी कही गईहैं.
वहीं कलेक्ट्रेट के खिलाफ एक ज्ञापन राजस्थान राजस्व मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष रामनिवास कलोइया के नेतृत्व में दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*