चरमपंथ से लोहा लेने को तैयार पहली महिला आईपीएस

नाम के. भावनेश्वरी. उम्र 46 साल. तमिलनाडू स्टेट पुलिस की अधिकारी. 2006 में आईपीएस में प्रोमोशन. और अब राज्य की पहली महिला आईपीएस जो इंटेलिजेंस विंग की एसपी बनायी गयी हैं.

के भावनेश्वरी

के भावनेश्वरी

चेन्नई में सीआईडी की एसपी के रूप में भावनेश्वरी चरमपंथ और आतंकवाद से मुकाबला करने की जिम्मेदारी निभायेंगी.

इससे पहले भावनेश्वरी ने सीबी-सीआईडी, निगरानी और भ्रष्टाचार निरोधी विभाग में अपने काम के लिए काफी सराहना पा चुकी हैं. और अब चरमपंथियों विदेशी आतंकवादियों के नेटवर्क के खिलाफ कमान संभाल चुकी हैं.

भावनेश्वरी के पिता भी तमिलनाडु पुलिस में सेवा दे चुके हैं. वह डीएसपी थे. भावनेश्वरी ने 1997 में टीएनपीएससी की परीक्षा पास की थी. उन्हें 2006 में आईपीएस के रूप में प्रोमोशन दिया गया.
पुलिस की वर्दी में आने के बावजूद वह समाज सेवा के लिए समय मिलने पर पूरा योगदान देती हैं.

भावनेश्वरी का कहना है कि पिछले कुछ सालों में राज्य पुलिस में महिलाओं का प्रतिनिधित्व संतोषजनक रूप से बढा है पर अब भी इस दिशा में और काम करने की जरूरत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*