चूहे ना हुए नीतीश के सरकारी बलि के बकरे हो गए : लालू प्रसाद

बिहार की सियासत में एक बार फिर चूहों को लेकर गरमाने लगी है. इस बार मामला बाढ़ से जुड़ा है, जब बिहार के जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने ये कह दिया कि बिहार में बाढ़ चूहों की वजह से आई है. ये चूहे मुख्य नदी से दूर बांध में बिल बना देते हैं. जिस वजह से उसमें रिसाव होता है. ललन सिंह के इस बयान पर जहां राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरा, वहीं सरकार में शामिल भाजपा ने भी हैरानी दिखाई.

नौकरशाही डेस्क

लालू प्रसाद ने ट्विटर के जरिये नीतीश कुमार की सरकार पर चूहों को बलि का बकरा बनाने का आरोप लगाया। लालू ने लिखा –

हज़ारों टन शराब गायब- चूहे जिम्मेदार
बाढ़ में हज़ारों लोग मरे- चूहे जिम्मेदार

मानो ये चूहे ना हुए नीतीश के सरकारी बलि के बकरे हो गए!

एक अन्य ट्वीट में लालू प्रसाद ने लिखा कि

गजब रे गजब भाई! क्या आप जानते है बिहार में बाढ़ चूहों के कारण आई? नहीं ? तो, पता करिए, नीतीश बतायेगा चूहे कैसे बिहार में बाढ़ लेकर आए? 

उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नैतिकता पर ही सवाल खड़े कर दिए. लिखा –

बाढ़ की जवाबदेही चूहों की है नीतीश की थोड़े है।नीतीश तो नैतिकता के नशे मे मस्त और अंतरात्मा से वार्तालाप में व्यस्त है। जय हो चूहा सरकार की।

गौरतलब है कि इसी साल बिहार की सियासत में चूहों पर आरोपों की परंपरा मई के महीने में हुए, तब एक थाने के एसएचओ ने एसएसपी मनु महाराज को बताया था कि शराबबंदी के बाद पुलिस द्वारा ही जब्त की गयी सील बंद बोतल को चूहों ने गटक लिया. पुलिस का ये बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसके बाद तत्कालीन नेता विपक्ष प्रेम कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उस चूहे का नाम बताने को कहा था, जिसने पुलिस के मालखाने से शराब की दावत उड़ाई थी.

लालू प्रसाद ने राज्य के जल संसाधन मंत्री ललन सिंह के चूहे पर दिए बयान को शराब बंदी के बाद चूहों पर शराब पीने वाली घटनाक्रम से जोड़ते हुए सरकार पर हमला बोला है.

 

 

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*