जनता दल, समाजवादी पार्टी से भाजपा तक की यात्रा की है सत्‍यपाल मलिक ने

संसद के दोनों सदनों के सदस्य और केन्द्र में मंत्री रह चुके सत्यपाल मलिक को बिहार का राज्यपाल बनाया गया है। राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद के उम्मीदवार बनने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी को बिहार के राज्यपाल का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था और तब से वह इस जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे थे। श्री मलिक को आज बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया।

 

श्री मलिक भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष रहे हैं। केंद्र में मंत्री पद का दायित्व संभालने वाले श्री मलिक संसद के दोनों सदनों के सदस्य रहे हैं। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में 25 दिसंबर 1952 को जन्मे श्री मलिक 1989 में पहली बार अलीगढ़ संसदीय सीट से लोकसभा में पहुंचे थे और 2004 में भाजपा में शामिल हुए थे। श्री मलिक 1980 से 1984 और फिर 1986 से 1989 तक राज्यसभा के सदस्य रहे और 1989 से 1990 तक लोकसभा के सदस्य भी रहे। इसी दौरान अप्रैल 1990 से नवंबर 1990 तक उन्होंने केंद्र सरकार में संसदीय और पर्यटन राज्य मंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दीं। श्री मलिक कई महत्वपूर्ण संसदीय समितयों के सदस्य भी रहे हैं। श्री मलिक ने मेरठ विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा हासिल की। बीएससी और एलएलबी की पढ़ाई पूरी करने के बाद श्री मलिक 1974 से 1977 तक उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य रह चुके हैं। वह जनता दल तथा समाजवादी पार्टी के भी सदस्य रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*