जनता ने कठिनाई के बावजूद बड़े बदलाव को स्वीकारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगामी पांच राज्यों में होने वाले चुनाव को लेकर पार्टी के नेताओं को नसीहत दी। नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनाव में रिश्तेदारों के टिकट के लिए दबाव न बनाएं। संगठन को सही लगेगा तो टिकट मिलेगा।modi11

 

 

भाजपा कार्यकारिणी की बैठक के दूसरे दिन कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं वे हैं, जो हवा में बहते नहीं हैं बल्कि हवा के रूख को मोड़ते हैं। उन्होंने कहा कि ये जो चर्चायें होती है, उससे हमें भी सत्ता में बल मिलता है। कार्यकर्ताओं के शिकायत सुनने के बाद हम और प्रभावी ढंग से शासन करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार सबसे बड़ी बुराई है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि बेनामी प्रापर्टी को सबसे ज्यादा मजबूती कैश से मिलती है। गरीब लोगों ने हमारे नोटबंदी के निर्णय को स्वीकारा है। मैंने स्वंय अपील की थी कि कुछ दिनों के लिए कठिनाई होगी लेकिन देश की जनता ने कठिनाई के बावजूद बड़े बदलाव को स्वीकारा है।

 

उन्होंने कहा कि गरीब और गरीबी सिर्फ चुनाव जीतने के माध्यम नहीं है। गरीब सिर्फ वोट के साधन नहीं है। यह सेवा का मौका है। गरीब की सेवा प्रभु का सेवा है। प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत की बात करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में एक 90 साल की आदिवासी महिला ने गांव में शौचालय के लिए अपनी बकरी को बेच दिया। गरीबी को परास्त करने की ताकत गरीबों के पास है। हमारे सारे कार्यक्रम गरीबों पर केंद्रित है। कुछ लोग लाइफस्टाइल की चिंता करते हैं। हमें इससे कोई आपत्ति नहीं है। हमारी चिंता है कि गरीबों को कैसे क्वालिटी ऑफ लाइफ मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*