“जनता से विश्वासघात कर सदन में विश्वास हासिल कर रहे हैं नीतीश”

बिहार असेम्बली में विपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव ने बजट सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बड़ी शालीनता पर आक्रमक तरीके से प्रहार किया है.

नंद किशोर यादव

नंद किशोर यादव

नौकरशाही ब्युरो

उन्होंने कहा कि नीतीश जी आप मुझसे उम्र में ज्यादा हैं पर मेरा भी अपना अनुभव है और मैं उस अनुभव से कह सकता हूं कि आप जनता से विश्वासघात कर के अपनी सरकार का विश्वास सदन में हासिल करना चाहते हैं.

नंद किशोर यादव, जद यू के मंजीत कुमार के वक्तव्य के जवाब में अपनी बात कह रहे थे. मंजीत ने जीतन राम मांझी के उस कदम के बारे में भाजपा को दोषी ठहराया जिसके तहत जद यू ने उन्हें मुख्यमंत्री के पद से हटने के लिए मजबूर किया. मंजीत ने एक-एक प्वाइंट को उठाते हुए कहा कि भाजपा ने एक महादलित को, जिन्हें उनकी पार्टी ने मुख्यमंत्री बनाया, उनका इस्तेमाल किया और यह महादलित समुदाय के खिलाफ भाजपा का षड्यंत्र है.

नीतीश के चेहरे से रौनक गायब

मंजीत के सदन में अपनी बात रखने के बाद नंद किशोर यादव ने नीतीश पर प्रहार करते हुए कहा कि यह आप ही ते जिन्होंने 2010 में सदन में बहुमत साबित किया और तब हम आपके सात  थे . उस समय आपके चेहरे पर एक रौनक दिखी पर आज आपके चेहरे की रौनक गायब है. किशोर ने कहा कि आज आप एक बेबस मुख्यमंत्री हैं और बहुमत साबित करने के लिए कई पार्टियों का दरवाजा खटखटका रहे हैं.

नंद किशोर यादव ने नीतीश कुमार को मुखातिब करते हुए कहा कि जब से भारतीय जनता पार्टी सरकार से हटी तबसे बिहार में विकास रुक गया है. उन्होंने नीतीश के उस व्यवहार पर तीखा प्रहार किया जब छपरा में मिड डे मील खाने से 23 बच्चों की मौत हो गयी और नीतीश उन बच्चों के रिश्तेदारों से मिलन तक नहीं गये. इसी तरह नंद किशोर ने नीतीश कुमार को इसलिए भी घेरा कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान पटना में हुए बम विस्फोट में मरने वालों के परिजनों से मिलने भी नीतीश नहीं गये. नंद किशोर ने नीतीश कुमार को यह भी याद दिलाया कि जब वह जनता के दुख दर्द में शरीक रहे तो जनता ने उनकी सरकार को 2010 में दो तिहाई बहुमत दिया लेकिन जब वही नीतीश कुमार जनता के दुख दर्द से दूर हो गये तो उसी जनता ने 2014 के लोकसभा चुनाव में नीतीश कुमार को सबक सिखा दिया.

आज बजट सत्र की शुरूआत राज्यपाल के अभिभाषण से शुरू हुआ. इसके बाद नीतीश कुमार सदन में अपना बहुमत साबित करने वाले हैं. सदन अभी जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*