जन्मजात सिख है महिला शूटर को मुस्लिम बनाने वाला

राष्ट्रीय शूटर तारा शहदेव को मजहब बदलवाने के लिये दबाव देने वाला रकीबुल हसन जन्मजात सिख है. रकीबुल हसन मूलरूप से रंजीत सिंह कोहली है. झरखंड पुलिस ने कोहली और उसकी मां कौशल रानी को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है.

राष्ट्रीय शूटर तारा शहदेव

राष्ट्रीय शूटर तारा शहदेव

नौकरशाही डेस्क

रंजीत सिंह कोहली की शादी कई बड़े नेताओं की मौजूदगी में हुई हिंदू रीति से हुई थी. पता चला है कि यह शादी में झारखंड के मशहूर सिख नेता इंदर सिंह नामधारी  की मौजूदगी में हुई थी.

इंदर सिंह झारखंड लेजिस्लेटिव असेंबली के स्पीकर रह चुके हैं.

 

झारखंड पुलिस के अनुसार रकीबुल हसन  का पहला  नाम रंजीत सिंह कोहली है जबकि उसकी मां का पहला नाम कौशल रानी है जो बाद में नाम बदल कर कौसर परवीन हो गयी.

रांची के एक अपार्टमेंट में जहां रंजीत और उसकी मां कौशल रहते हैं वहां लगे बोर्ड में भी उनका नाम कौशल ही लिखा है.

 

तारा का आरोप है कि कोहली का असली नाम रकीबुल हसन है. लेकिन बीबीसी के अनुसार  इस आरोप का  खंडन करते हुए कोहली का कहना है कि वो सिख हैं और सभी धर्मों का आदर करते हैं

इस मामले में तारा शहदेव ने रांची के हिंदपीड़ी थाने में दर्ज अपने 164 के बयान में कहा है कि उसने रंजीत सिंह कोहली से कुछ महीने पहले ही शादी की. लेकिन उन्हें बाद में पता चला कि वह रकीबुल हसन है और उसने, उसे जबरन इस्लाम स्वीकार करने का दबाव डाला.

 

इस मामले में रंजीत सिंह कोहली का बयान अभी तक सामने नहीं आया है. लेकिन तारा शहदेव के 164 के बयान से ऐसा लगता है कि रंजीत सिंह कोहली और उसकी मां कौशल रानी ने इस्लाम स्वीकार कर लिया.

कौशल रानी  ने मजहब बदलने के बाद अपना नाम कौसर परवीन रख लिया. रांची के सिटी एसपी अनूप बिरथरे ने बताया है कि रंजीत कोहली के पास से लैपटॉप भी बरामद किया गया है. रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन को रांची की अदालत में पेश किया जायेगा. मालूम हो कि इस खबर के सार्वजनिक होने के बाद शिवसेना और बजरंग दल ने सोमवार को रांची बंद रखा.

इस दौरान बजरंग दल के लोगों ने रांची में गुंडई की हदें पार करते हुए आम लोगों को सड़कों पर खूब पीटा. कई दुकानों और गाड़ियों के शीशे तोड़े और राहगीरों व ठेले वालों पर खूब डंडे बरसाये.

इस मामले में झारखंड सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेज दी है. इसमें तारा द्वारा हिंदपीढ़ी थाने में दर्ज एफआईआर का उल्लेख किया गया है. तारा के 164 के तहत दिए गए बयान की कॉपी भी भेजी गई है. साथ ही रकीबुल के खिलाफ अब तक की गई कार्रवाई की जानकारी भी दी गई है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*