जमुई के काली मंदिर में वार्षिक पूजा पर उमड़ी भीड़, विधायक की मौजूदगी में हजारों ने दी पाठे की बलि

जमुई(बिहार)।जिले के चकाई प्रखंड अंतर्गत सरौन गांव में स्थित प्रसिद्ध काली मंदिर में मां काली की वार्षिक पूजा परम्परागत ढंग से वैदिक रीति-रिवाज के अनुसार धूमधाम से मनाया गया।

सांकेतिक फोटो

नौकरशाही ब्युरो, मुकेश कुमार
इस धार्मिक अनुष्ठान के पावन मौके पर सिकन्दरा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक सह अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह प्रदेश मीडिया प्रवक्ता सुधीर कुमार उर्फ बंटी चौधरी,उनकी धर्मपत्नी रश्मि श्री,चकाई विधानसभा क्षेत्र की राजद विधायिका श्रीमति सावित्री देवी सहित सूबे बिहार,झारखंड,पश्चिम बंगाल और ओडिशा के हजारों नर-नारी श्रद्धालु भक्तजन सरौन पहुंचे.

विधायक बंटी चौधरी व विधायकिा सावित्री देवी ने भी किया दर्शन

इस मौके पर  मां काली की पूजा अर्चना की तथा उनके चरणों में शीश झुकाकर आशीर्वाद ग्रहण किया।सदियों से चली आ रही सरौंन काली मंदिर की परंपरा के मुताबिक हजारों भक्तजन मनौती पूरा होने को लेकर मां काली को पाठे की बलि दी।जिसके उपरांत प्रसाद के रूप में उसका भोग लगाया।
विधायक सुधीर कुमार उर्फ बंटी चौधरी ने मां काली मंदिर परिसर में उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरौन स्थित मां काली की अलौकिक मूर्ति में गजब की शक्ति है।जो व्यक्ति एक बार मां के दरबार में आता है वह इन्हीं का होकर रह जाता है।श्री चौधरी ने मां काली को शक्ति की अधिष्ठात्री की संज्ञा देते हुए कहा कि मैया के प्रति निष्ठावान होना ही सच्ची पूजा अर्चना है।
चकाई विधायिका सावित्री देवी समेत कई जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य लोगों ने कार्यक्रम को संबोधित किया और मां काली के प्रति समर्पण भाव को दर्शाया।वही मां काली की पूजा अर्चना को लेकर जन सैलाब उमड़ पड़ा।मंदिर परिसर में ढोल-मृदंग की थाप पर जयकारे लगाये गये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*