जाते-जाते पत्रकारों को पेंशन दे जाएंगे मांझी

मुख्‍यमंत्री जीतनराम मांझी कैबिनेट की अगली और संभवत: अंतिम में बैठक पत्रकारों के लिए पेंशन पर मुहर लगा जाएंगे। पत्रकार लंबे समय से सम्‍माजनक पेंशन की बात मांग करते रहे थे। अब तक सिर्फ आश्‍वासन मिल रहा था। लेकिन अगले मंगलवार को पत्रकारों की पेंशन का प्रस्‍ताव को राज्‍य मंत्रिमंडल अपनी स्‍वीकृति प्रदान कर देगा।

वीरेंद्र यादव

 

सीएमओ सूत्रों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, 20 वर्षों तक पत्रकारिता का अनुभव रखने वाले पत्रकार पेंशन के हकदार होंगे। सरकार ने इसके लिए कई अन्‍य मानदंड भी तय किए हैं। इस संबंध में बताया जा रहा है कि सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने पेंशन से जुड़े प्रस्‍ताव को अंतिम रूप दे दिया है। इसे मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। इसे उसी दिन मंजूरी भी मिल जाने की संभावना है।

 

बिहार में कार्यरत पत्रकार संगठन पेंशन और आवास की मांग लंबे समय से करते रहे हैं। प्रेस क्‍लब के गठन की मांग भी उठती रही है। एक बार सरकार ने प्रेस क्‍लब का गठन भी कर दिया था। लेकिन इसकी आगे की कार्रवाई पर कोई खास चर्चा नहीं हुई। आवास देने की भी बात हुई थी, लेकिन यह भी लटक गया। लेकिन मांझी सरकार ने पत्रकारों की महत्‍वपूर्ण मांगों में से एक को मान लिया है। पेंशन प्रस्‍ताव का अंतिम स्‍वरूप क्‍या होगा, इसका खुलासा कैबिनेट की अगली बैठक के बाद ही संभव है। लेकिन सरकार पत्रकारों को होली का तोहफा दे देगी, इसकी उम्‍मीद पक्‍की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*