जिला पर्षद छह सैरातों की बंदोबस्ती से हर वर्ष कमाएगा 20.57 लाख

अध्यक्ष अंजू देवी के नेतृत्व में हुई सैरातों की नीलामी
-पिछले साल से ज्यादा होगी डिस्ट्रिक्ट बोर्ड को आमदनी
पटना

जिला पर्षद अध्यक्ष अंजू देवी के नेतृत्व में 70 सैरातों में से छह बड़े सैरातों की बंदोबस्ती पूरी कर ली गयी है.

जिला पर्षद अध्यक्ष अंजू देवी के नेतृत्व में 70 सैरातों में से छह बड़े सैरातों की बंदोबस्ती पूरी कर ली गयी है.

जिला पर्षद अपने सैरातों से हर साल 20.57 लाख की कमाई करेगा. जिला पर्षद अध्यक्ष अंजू देवी के नेतृत्व में 70 सैरातों में से छह बड़े सैरातों की बंदोबस्ती पूरी कर ली गयी है. छह सैरातों की बंदोबस्ती से बाेर्ड को लगभग 21 लाख रुपये की आमदनी होगी. इन सैरातों में मेला, सब्जी हाट बाजार, कृषि योग्य जमीन, फल रस और जलकर आदि शामिल हैं. वित्तीय वर्ष 2017-2018 में सैरात बंदोबस्ती से लगभग 21 लाख रुपये की बोली लगायी गयी है. अस्थायी बंदोबस्ती आम नीलामी के माध्यम से की गयी. बाढ़ सब्जी मंडी का डाक 17 लाख 81 हजार रुपये में ओम प्रकाश सिंह ने लिया तो प्रसिद्ध उलार मेला का डाक एक लाख 37 हजार रुपये में हुआ. पिछले बार इसी उलार मेले का डाक केवल 31 हजार रुपये में दे दिया गया था और बाढ़ की सब्जी मंडी का डाक 10 लाख 34 हजार रुपये में दिया गया था. खगौल डाकबंगला के परती भूमि पर सब्जी बाजार की बंदोबस्ती 96 हजार 500 रुपये वहीं डिहरी सैदाबाद रोड के खेती योग्य जमीन को 32 हजार रुपये में बंदोबस्त किया गया. बिक्रम निरीक्षण भवन का फल रस 5300 रुपये में किया गया तो नौबतपुर रोड का फल रस भी 5300 रुपये में ही बंदोबस्त हुआ. अध्यक्षा ने बताया कि आज छह सैरातों की बंदोबस्ती से पटना जिला पर्षद को कुल 20 लाख 57 हजार एक सौ रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई है. 31 मार्च को बाकी के 64 सैरातों की बंदोबस्ती की जायेगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*