जेईई एडवांस: केमिस्ट्री के लिए कुछ जरूरी सुझाव

परमार क्लासेज के निदेशक और केमिस्ट्री के जाने माने शिक्षक अनिल परमार जेईई एडवांस परीक्षा में केमिस्ट्री की तैयारियों की बारीकियां समझा रहे हैं

अनिल परमार

अनिल परमार

जेईई मेन्स में कोई ड़ढ लाख छात्रों का चयन हुआ है. सच कहूं तो यह कोई बड़ी उपलब्धि नहीं है.असल चुनौति तो एडवांस की बाधा पार करना है जो यह सुनिश्चित करेगा कि आईआईटी संस्थानों में किसका चयन होता है.

हां जिन छात्रों के लिए जेईई मेंस के लिए लास्ट चांस था उनके लिए यह जरूरत एक उपलब्धि है. साथ ही मैं जोड़ू कि जो छात्र पहली बार मेंस परीक्षा में शामिल हुए थे उन्हें हतोत्साहित होने की जरूरत नहीं है. उन्हें यह ध्यान रखना है कि उन्हें दूसरा चांस अगले साल मिलेगा.

जहां तक मेंस में चयनित छात्रों की बात है तो उन्हें यह गांठ बांध लेने की जरूरत है कि एक महीने के अंदर होने वाली एडवांस की परीक्षा में उन छात्रों की सफलता की ज्यादा संभावना है जिन्होंने मेंस के साथ साथ एडवांस की तैयारी भी की होगी. इस लिए यह बात ध्यान देने की है कि मेंस के रिजल्ट के बाद एडवांस की तैयारी महज एक महीने में नहीं की जा सकती.

एडवांस परीक्षा में केमिस्ट्री की तैयारी

छात्रों को यह समझ लेना चाहिए कि आईआईटी एडवांस परीक्षा के प्रश्न भी काफी एडवांस ही रहेंगे. इसलिए किसी भी चेप्टर को इग्नोर करना बड़ी भूल होगी. जैसा कि छात्र जानते हैं केमिस्ट्री के तीन भाग हैं- फिजिकल, ऑर्गेनिक और इनऑर्गनिक. फिजिकल और ऑर्गेनिक में किसी तरह का कोई सुझाव काम नहीं आयेगा. इन दोनों विषयों को थ्रोली पढ़ना ही पड़ेगा. जहां तक इऑर्गेनिक का मामला है तो इसके लिए एनसीआआरटी की पुस्तक अच्छे से पढ़ लेते है और क्वालिटिटिव एनालिसिस के पोर्शन को गहरायी से पढ़ लेते हैं तो इनऑर्गनिक में सफलता की संभावना प्रबल हो जाती है.

केमिस्ट्री विषय में 135 अंक के प्रश्न होंगे. इन में फिजिकल, आर्गेनिक और इनऑर्गनिक में प्रत्येक से 45 अंक के प्रश्न होंगे. जैसा कि मैंने पहले कहा कि फिजिकल और ऑर्गेनिक में कोई सजेशन काम नहीं आता लेकिन इनऑर्गनिक में थोड़ा विशेष ध्यान देने पर 45 में से 35 अंक तो लाया ही जा सकता है. मैं अपने अनुभवों से कह सकता हूं कि कुल 135 में से अगर कोई छात्र 100 अंक लाने की क्षमता रखता है तो उसका आईआईटी में चयन निश्चित हो जाता है.

छात्रों को यह जानना चाहिए कि आईआईटी में स्कोर करने के लिए केमिस्ट्री एक आरडीएस( रैंक डिसाइडिंग सब्जेक्ट) है. फिजिक्स और मैथ के स्कोर में आप चाहें जितनी मेहनत करें पर केमिस्ट्री में अच्छे परफॉर्म करते हैं तो आप अपने रैंक में काफी सुधार ला सकते हैं.

जेईई एडवांस में शामिल होने वाले छात्रों को मेरी शुभकामनायें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*