डीएम साहब किसकी अनुमति से जिले से थे बाहर? क्यों किया राजभवन मार्च?

-नियम तोड़ने वाले नौकरशाहों को देना होगा जवाब
-आईएएस असोसिएशन की बैठक में शामिल सभी डीएम को नोटिस
नौकरशाही ब्यूरो, पटना

नियम तोड़ने वाले नौकरशाहों को देना होगा जवाब

नियम तोड़ने वाले नौकरशाहों को देना होगा जवाब

डीएम साहब बताइये आईएएस सुधीर कुमार की गिरफ़्तारी के बाद किसकी अनुमति से जिले से थे बाहर? किस सक्षम प्राधिकार से अपने अनुमति ली थी? क्यों मानव श्रृंखला में शामिल हुए थे?
बीएसएससी परचा लीक प्रकरण में नियम तोड़ने वाले नौकरशाहों को इन्ही सवालो का देना होगा जवाब. बिहार सरकार ने आईएएस असोसिएशन की बैठक में शामिल होने और उसके बाद प्रदर्शन में शामिल होने वाले सभी 18 डीएम को नोटिस थमा दिया है. बिहार सरकार ने पिछले दिनों बीएसएससी पेपर लीक मामले में आईएएस सुधीर कुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ राजभवन पहुंचकर विरोध करने वाले आईएएस अधिकारियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. राज्य सरकार ने बिना अनुमति राजभवन क्षेत्र में विरोध करने पहुंचे आईएएस अधिकारियों को इस मामले में गुरुवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. बिहार सरकार ने पिछले महीने राज्यभर के आईएएस अधिकारियों द्वारा सुधीर कुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ राजभवन में मानव श्रृंखला बनाकर सरकार के फैसले का विरोध करने और बिना छुट्टी लिए राजभवन पहुंचने को लेकर यह कार्रवाई की है. राज्य सरकार के अनुसार 26 फरवरी 2017 को 18 से भी ज्यादा डीएम अपने जिले से बिना किसी छुट्टी के पटना आकर राजभवन के सामने मानव श्रृंखला बनाकर विरोध करने लगे. इससे जिले का कार्य भी प्रभावित हुआ है. ऐसे में करीब 18 आईएएस अधिकारियों को इस मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*