तीसरे चरण में 60 फीसदी मतदान, 82 उम्‍मीदवारों की किस्‍मत सील

लोकसभा की चालीस में से पांच सीटों के लिए आज तीसरे चरण का मतदान पिछले चुनाव की तुलना में एक प्रतिशत की मामूली वृद्धि 60 फीसद के साथ शांतिपूर्वक सम्पन्न हुआ और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव, सांसद रंजीत रंजन तथा राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव समेत 82 प्रत्याशियों के चुनावी भविष्य पर जनता का फैसला इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बंद हो गया ।


मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच. आर. श्रीनिवास ने मतदान सम्पन्न होने के बाद यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अभूतपूर्व सुरक्षा इंतजाम के बीच झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया लोकसभा क्षेत्र में सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ । सुरक्षा कारणों से एहतियात के तौर पर खगड़िया लोकसभा के सिमरी बख्तियारपुर, बेलदौर और अलौली विधानसभा क्षेत्र में शाम 4:00 बजे तक ही मतदान कराया गया जबकि शेष क्षेत्रों में शाम 6:00 बजे तक वोट डाले गये। उन्होंने बताया कि सुपौल में सर्वाधिक 62.80 प्रतिशत वोट पड़े हैं । वहीं, झंझारपुर में मतदान की रफ्तार थोड़ी कम रही। यहां मतदान समाप्त होने तक 56.92 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया है जबकि अररिया में 62.34 प्रतिशत, मधेपुरा में 59.12 प्रतिशत और खगड़िया में 58.83 प्रतिशत वोट पड़े ।

श्री श्रीनिवास ने बताया कि वर्ष 2014 के पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार मतदान में मामूली वृद्धि हुई है। पिछले लोकसभा चुनाव में इन पांच क्षेत्रों में 59.08 प्रतिशत मत पड़े थे लेकिन इस बार 60 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट किया । पिछले लोकसभा चुनाव में सुपौल में 62.24, झंझारपुर में 55.99, अररिया में 60.46, मधेपुरा में 58.61, खगड़िया में 58.08 प्रतिशत वोट पड़े थे। उन्होंने बताया कि मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा । इस दौरान 46 लोगों को हिरासत में लिया गया । खगड़िया में 35, अररिया में 7, मधुबनी में 3 और मधेपुरा में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया जबकि 37 वाहन जब्त किये गये।
गौरतलब है कि तीन चरणों में 14 सीटों के लिए चुनाव सम्पन्न हो गया है और शेष चार चरण में 26 सीटों का मतदान होना है । चौथे चरण में 29 अप्रैल और पांचवें चरण में 06 मई को पांच-पांच तथा छठे चरण में 12 मई और सातवें चरण में आठ-आठ सीट पर मतदान होना है । मतों की गिनती 23 मई को होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*