‘दिल्ली सलतनत’ लेकर आ रहे हैं डीपीएस पंवार

देशपाल सिंह पंवार नौकरशाही डॉट इन के विशेषज्ञ स्तंभकार के रूप में जुड़ गये हैं. उनके बेबाक लेख नियमित रूप से ‘दिल्ली सलतनत’ कॉलम के नाम से छपा करेंगे.

डीपीएस पंवार

डीपीएस पंवार

पत्रकारिता जगत में डीपीएस पंवार के नाम से चर्चित पंवार साहब सत्ता और समाज की कड़वी सच्चाई को जिस बेबाकी से सामने लाने के लिए जाने जाते हैं, उनकी सम्पादन क्षमता भी उतनी ही प्रखर और कौशलपूर्ण है. देश के अनेक बड़े हिंदी अखबारों को सेवायें दे चुके पंवार साहब पिछले 27 सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं. इन 27 सालों की पत्रकारिता में उन्होंने देश की हिंदी पट्टी के तमाम आठ राज्यों को न सिर्फ जिया है बल्कि उनकी प्रशासनिक-राजनीतिक बारीकियों पर गहरी पैठ रखते हैं.

उन्होंने पटना हिंदुस्तान में न्यूज एडिटर की हैसियत से जो भूमिका निभायी वह बिहार की पत्रकारिता के महत्वपूर्ण दौर के रूप में गिना जाता है. यहां रहते हुए डीपीएस पंवार ने ‘कड़वा सच’ कालम लिख कर यह बता दिया कि पत्रकारिता की असल भूमिका जनपक्ष की आवाज बनना है न कि सत्ता सिंहांसन का पिट्ठू.

राष्ट्रीय सहारा, अमर उजाला, हरिभूमि, डीएनए के साथ साथ इल्कट्रानिक मीडिया में रहते हुए उन्होंने अपनी नेतृव क्षमता के साथ मानव प्रबंधन के कौशल को भी दिखाया है.

पंवार साहब के लिए पत्रकारिता जितना जनपक्ष के स्वाभिमान को जगृत कर आम जन के नैतिक मूल्यों को मजबूत करना रही है, निजी जीवन में वह खुद भी इसी लाइन पर चलने वाले रहे हैं. जिसके कारण उन्हें मीडिया घरानों और उनके कुछ पिट्ठू पत्रकारों से दो-दो हाथ भी करना पड़ा है.

नौकरशाही डॉट इन को इस बात का गर्व है कि देशपाल सिंह पंवार अपना योगदान उसके पाठकों के लिए करने पर सहमत हो गये हैं. ‘दिल्ली सलतन’ कॉलम पंवार साहब की बेबाक और खर-खरी टिप्पणियों का गुलदश्ता होगा जिसमें रविवार को सत्ता-समाज और नौकरशाही से लेकर वह तमाम मुद्दे शामिल होंगे जो हमारे जीवन को सीधा प्रभावित करते हैं.

आशा है नौकरशाही डॉट इन का यह प्रयास हमारे पाठकों को उद्वेलित करने और उनके वैचारिक व बौधिक जरूतों की कसौटी पर खरा उतरेगा.

इर्शादुल हक, सम्पादक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*