देश्वयापी धमक: आज छत्तीसगढ़ में शराबांदी का अलख जगायेंगे नीतीश

शराबबंदी के फायदे गिनाने आज खुद बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार रायपुर जा रहे हैं। कार्यक्रम तो उनका सामाजिक है..लेकिन उस सामाजिक कार्यक्रम में शराबबंदी छाया रहेगा। सूबे के सीएम नीतीश कुमार  ना सिर्फ एक बड़ी सभा को संबोधित करेंगे.. बल्कि शराबबंदी से जुड़े कई संगठन उनसे मुलाकात भी करेंगे।

शराब बंदी जैसे महत्वपूर्ण कार्य के लिए 2016 का अणुव्रत पुरस्कार सीएम नीतीश कुमार को प्रदान किया जायेगा.

शराब बंदी जैसे महत्वपूर्ण कार्य के लिए 2016 का अणुव्रत पुरस्कार सीएम नीतीश कुमार को प्रदान किया जायेगा.

नौकरशाही ब्यूरो,मुकेश कुमार

 

गौरतलब है की बिहार में जेडीयू ,राजद और कांग्रेस की महागठबंधन सरकार है…लिहाजा कल के कार्यक्रम में कांग्रेसी नेता भी मौजूद रहेंगे। कांग्रेस ने शराबबंदी को लेकर छत्तीसगढ़ में बड़ा अभियान छेड़ रखा है। लिहाजा कल वे शराबबंदी के मुद्दे पर वह बिहार का उदाहरण देकर राज्य सरकार को घेर सकती है।

हालांकि नीतिश कुमार के छत्तीसगढ़ दौरे को राजनीति के लिहाज से भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। छत्तीसगढ़ में शराबबंदी बड़ा मुद्दा बन गया है। और नीतीश कुमार शराबबंदी का एक बड़ा मॉडल है। लिहाजा बिहार के तर्ज पर कांग्रेस वहां नीतीश कुमार की नीतियों को ब्रह्मास्त्र के तौर पर आजमा सकती है। हालांकि ये अभी सिर्फ कयासों में है।

नीतीश वहां 1 बजकर 10 मिनट पर रायपुर पहुँचेंगे। रायपुर में कुछ मेल मुलाकातों के बाद वे 2 बजे धरसींवा पहुंचेंगे। जहांपरसतराई स्थित कार्यक्रम स्थल पर सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल होंगे..और बड़ी जनसभा करेंगे। शाम 4 बजे वो रायपुर से पटना के लिए निकल जायेंगे।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से मिलने का कार्यक्रम तय नहीं।

यूं तो नीतीश कुमार और रमन सिंह की दोस्ती पुरानी है..लेकिन कल उन दोनों की मुलाकात होगी या नहीं.. ये फिलहाल तय नहीं है। हालांकि अगर मुलाकात होती है..तो जाहिर सी बात है कि उनसे शराबबंदी के मुद्दे पर जरूर चर्चा होगी। हालांकि इसके राजनीतिक मायने भी हो सकते हैं।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*