देश बचाने के लिए जन आकांक्षा रैली में हो शामिल : रंजीत रंजन

देश बचाने के लिए जन आकांक्षा रैली में हो शामिल : रंजीत रंजन

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की सचिव सह प्रवक्‍ता व सुपौल की सांसद रंजीत रंजन ने शनिवार को राहुल गांधी की जन आकांक्षा रैली की पूर्व संध्‍या पर पटना के सब्‍जीबाग में एक नुक्‍कड़ सभा कर लोगों से रैली को सफल बनाने की अपील की। इस दौरान कांग्रेस सांसद ने लोगों से कहा कि वे राहुल गांधी की रैली में देश बचाने के लिए बड़ी संख्‍या में इकट्ठा हों। वहीं, नुक्‍कड़ सभा में रंजीत रंजन ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला, जिसे पर खूब तालियां भी बजीं।

Ranjeet Ranjan

नौकरशाही डेस्‍क

चुनाव में सबक सिखाने की जरूरत

रंजीत रंजन ने कहा कि जब – जब तोड़ने वाली ताकतें सर उठाती है और नफरत फैलाती हैं, तब – तब बिहार की धरती ऐसी ताकतों को मुंह पर चमेटा मारती है। ऐसे लोग सिर्फ सत्ता के लिए देश में नफरत फैलाते हैं। इन्‍हें 2019 के चुनाव में सबक सिखाने की जरूरत है। रंजीत रंजन ने पीएम मोदी के पकौड़े वाले बयान पर भी मोदी सरकार को निशाने पर लिया और कहा कि कोई पकौड़ा बेचने वाला यह सपना नहीं देखता है कि उबेटे बच्‍चे 30 साल बाद फिर से पकौड़े ही बेचे। उन्‍होंने कहा कि मोदी जी खुद को गरीब का बेटा बताते हैं। तो मोदी जी को याद रखना चाहिए कि उन्‍होंने यूपीए सरकार के समय में ही पीएम बनने का सपना देखा था। मगर वे आज गरीबों के सपनों को ही मार रहे हैं।

Read This : मोदी सरकार के लिए विदाई रैली साबित होगी राहुल गांधी की ऐतिहासिक रैली : अखिलेश प्रसाद सिंह

पीएम पढ़ें कुरान

रंजीत रंजन ने इस जन सभा में तीन तलाक के मुद्दे पर पीएम मोदी पर हमला बोला और कहा कि भारत में दहेज की वजह से बड़ी संख्‍या में महिलाओं को जला दिया जाता है। मगर उन्‍हें इसमें कोई गुरेज नहीं है। तीन तलाक के मुद्दे पर रंजीत रंजन ने पीएम मोदी को कुरान पढ़ने की नसीहत दे दी। वहीं उन्‍होंने शुक्रवार को जारी मोदी सरकार के बजट पर भी तंज किया। नुक्‍कड़ सभा से पहले रंजीत रंजन ने रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा से भी पीएमसीएच में जाकर मुलाकात की और उनके स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी ली। आपको बता दें कि शिक्षा में सुधार के कुशवाहा ने जन आक्रोश रैली निकाली थी। इस दौरान पटना पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में वे घायल हो गए थे।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*