‘नंगा करिये अमेरिकियों को’

राजनयिक देवयानी खोब्रगड़ से दुर्व्यवहार पर देश में बदले की भावना भड़क उठी है वाम, दक्षिण, पक्ष, विपक्ष और जनता सब एक साथ हैं वहीं मुलायम ने कहा है कि अमेरिका को नंगा करिए.

देवयानी के साथ अमेरिका में हई थी बदसुलूकी

देवयानी के साथ अमेरिका में हई थी बदसुलूकी

अमेरिका में तैनात भारतीय राजनयिक देवयानी खोब्रागडे से बदसलूकी के बाद भारत में इस मुद्दे पर सड़क से लेकर संसद तक गुस्सा भड़क गया है. राष्ट्रवादी शिवसेना कार्यकर्ताओं ने अमेरिकी दूतावास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, वहीं,बुधवार को संसद के दोनों सदनों- राज्यसभा और लोकसभा – में कई नेताओं ने देवयानी के साथ हुई बदसलूकी के लिए अमेरिका पर भरपूर प्रहार किया.

इधर विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘भारत असरदार ढंग से इस मामले में दखल देगा और यह सुनिश्चित करेगा देवयानी की गरिमा और सम्मान बरकरार रहे.’ खुर्शीद ने ऐलान कर दिया कि वे तब तक संसद नहीं आएंगे जब तक देवयानी को सकुशल भारत वापस नहीं लाया जाता.

उन्होंने कहा कि एक साजिश के तहत देवयानी को फंसाया गया है.
देवयानी खोब्रागडे के साथ बदसलूकी के बाद भारत के कड़े रुख के बावजूद संसद में सभी दलों के नेताओं अमेरिका को करारा जवाब देने की मांग की.

बसपा अध्योक्ष मायावती का आरोप है कि चूंकि महिला डिप्लोसमैट दलित समुदाय से हैं, इसलिए केंद्र सरकार ने इस मसले पर कार्रवाई करने में देर कर दी.उधर मुलायम सिंह यादव ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा, ‘क्या है अमेरिका? धमाका हुआ वहां, तो थर-थर कांपता है अमेरिका अरब देशों से. नंगा कीजिए उन लोगों को भी।’

जेडीयू सांसद शिवानंद तिवारी समेत कई नेताओं ने देवयानी के साथ बदसलूकी के मुद्दे पर चिंता जाहिर की. तिवारी ने अमेरिका के मनमाने रवैये की आलोचना की. तिवारी ने मांग की है कि अमेरिका अपने व्यवहार के लिए माफी मांगे. जबकि सीताराम येचुरी ने कहा है कि यह मामला हमारी संप्रभुता पर हमला है.

इस बीच, बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा के उस बयान पर विवाद हो गया है, जिसमें उन्होंने मंगलवार को कहा था कि भारत को अब उन अमेरिकी राजनयिकों को गिरफ्तार करना चाहिए जो ‘साथी’ के रूप में भारत में रह रहे हैं. सिन्हा के मुताबिक, ‘साथी का मतलब एक समान सेक्स वाले लोगों से है.
चूंकि, अब सुप्रीम कोर्ट ने भी धारा 377 को पूरी तरह से बहाल कर दिया है, ऐसे में भारत में समलैंगिक सेक्स गैरकानूनी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*