नन्दीग्राम में दीदी ने डाला डेरा, शुभेंदु की साख दाव पर

.

नन्दीग्राम में दीदी ने डाला डेरा, शुभेंदु की साख दाव पर

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Elections 2021) में नन्दीग्राम हॉट सीट बनके उभरा है। यहां से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी को ममता बनर्जी ने मुश्किल में डाल रखा है।

2016 में तृणमूल के टिकट पर शुभेंदु अधिकारी ने यह सीट 68 हज़ार मतों से जीती थी। अब वह भाजपा के प्रत्याशी हैं। इस सीट पर भाजपा ने ममता को लड़ने के लिए ललकारा घ। ममता ने अपनी परंपरागत भवानीपुर को छोड़ कर नन्दीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं।

294 सीटें हैं, लेकिन इनमें से नंदीग्राम (Nandigram) सबसे अधिक चर्चा में है. जहां बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) खुद यहां से चुनाव जीतने की कोशिश में लगी हैं, तो दूसरी ओर सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) से ही बगावत करके भाजपा में आए शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) चुनावी जंग में उनके सामने खड़े हैं.

बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 1 अप्रैल को नंदीग्राम में वोट डाले जाएंगे, ऐसे में वहां 30 मार्च शाम 5 बजे तक ही चुनाव प्रचार किया जा सकता है.

ममता बनर्जी ने नन्दीग्राम में कैम्प कर दिया है और वह 28 मार्च से 30 मार्च तक दाती रहेंगी।

ममता के इस फैसले से शुभेंदु अधिकारी के खेमे में हड़कंप मंच गया है। ममता को चुमौयी देने के लिए अमित शाह भी यहां आने वाले हैं। इससे पहले नरेंद्र मोदी और आदित्यनाथ यज्ञ सभा कर चुके हैं।

नंदीग्राम . इस सीट पर आठ उम्मीदवार मैदान में हैं. ममता और अधिकारी के अलावा, हुसैन, माकपा उम्मीदवार मीनाक्षी मुखर्जी, एसयूसीआई(सी) के मनोज कुमार दास और तीन अन्य निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में हैं. गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की सभी 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होंगे, जिसमें से 27 मार्च को पहले चरण का चुनाव संपन्न हो गया है. अब एक अप्रैल, छह अप्रैल, दस अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को चुनाव होंगे, जबकि मतों की गिनती दो मई को होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*