लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल हो सकती है दुनिया की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला

बिहार से पूरी दुनिया को नशामुक्त समाज का संदेश देने के उद्देश्य से प्रदेश में 11292 किलोमीटर में दो करोड़ से अधिक प्रदेशवासियों ने अभूतपूर्व उत्साह के साथ 45 मिनट तक एक दूसरे का हाथ थाम विराट मानव श्रृंखला बनाकर नया इतिहास रच डाला।nitii

 

लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अगले साल शामिल होगा

 

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मानव श्रृंखला निर्माण की सफलता पर खुशी जाहिर करते हुये कहा कि मैं नशामुक्ति अभियान में पक्ष में उमड़े जनसैलाब के लिए राज्य की जनता को धन्यवाद देता हूं। इतना व्यापक जनसमर्थन दिखाकर बिहारवासियों ने केवल देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में नशामुक्ति के पक्ष में सशक्त संदेश दिया है। उन्‍होंने कहा कि आज लोगों ने दिखा दिया कि राज्य में सामाजिक बदलाव की बुनियाद रख दी गई है। बिहार ने विराट मानव श्रृंखला के माध्यम से शराबबंदी एवं नशामुक्ति के पक्ष में दृढ़ निश्चय का परिचय दिया है। उन्हें पूर्ण विश्वास है कि यही एकता और उत्साह आगे भी बरकरार रहेगा।
राज्य के 38 जिलों में फैले 3007 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग और राज्य मार्ग के अलावा 8285 किलोमीटर लंबे उप मार्ग समेत कुल 11292 हजार किलोमीटर मार्ग पर दो करोड़ से अधिक लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर शराबबंदी और नशामुक्ति के पक्ष में अप्रत्याशित प्रतिबद्धता प्रदर्शित की है।

 

मानव श्रृंखला की तस्वीर लेने के लिए देश और विदेश के पांच उपग्रह, चार हेलीकॉप्टर और 40 ड्रोन का इस्तेमाल किया गया , वहीं इस ऐतिहासिक कार्यक्रम को रिकॉर्ड करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष शोध संस्थान (इसरो) की टीम निगरानी कर रही थी। इस ऐतिहासिक अभियान का हिस्सा बनने के लिए गांधी मैदान में मुख्यमंत्री के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विधानपरिषद् के सभापति अवधेश नारायण सिंह, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी एवं अन्य उपस्थित रहे। गांधी मैदान में उपस्थित लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधि एन. सी. माथुर ने कहा, “मैंने इस ऐतिहासिक अभियान की रिपोर्ट भेज दी है, जिसे अगले वर्ष प्रकाशित होने वाले रिकॉर्ड्स में शामिल कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*