नाराज हो गयीं ‘आई कैंडी’ आइएएस

एक मैगजीन द्वारा आई कैंडी बताए जाने और एक विवादास्पद कार्टून छापे जाने के बाद तेलंगाना की एक महिला आईएएस अफसर काफी नाराज हैं। उन्होंने मैगजीन को कानूनी नोटिस भेजा है। माफी न मांगने की सूरत में आपराधिक केस दर्ज कराने की चेतावनी दी है।smita-sabharwal-collector

 

सीनियर आईएएस अफसर स्मिता सबरवाल ने बुधवार को कहा कि मैगजीन पूरे देश की महिलाओं से माफी मांगे। उन्होंने इसे महिलाओं का अपमान बताया है। वहीं, राज्य सरकार ने भी मैगजीन के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं। यह आदेश चीफ सेक्रेटरी राजीव शर्मा की ओर से जारी किया गया है। एक अंग्रेजी चैनल से बातचीत में सबरवाल ने कहा कि मैंने 14 साल सर्विस की है। लेख से मुझे बहुत दुख पहुंचा है। अगर वे ऐसा एक ऐसे ब्यूरोक्रेट से कर सकते हैं, जो गंभीर काम कर रही है तो सभी तरह की महिलाएं इस तरह की पीत पत्रकारिता का शिकार हो सकती हैं। हमें आगे आकर इसे खत्म करना होगा। मैंने कई जिलों में अफसर के तौर पर काम किया है और मेरे साथ ऐसा बर्ताव कभी नहीं हुआ।

 
तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव की करीबी मानी जाने वालीं सीनियर आईएएस अफसर स्मिता सबरवाल को हाल ही में मैगजीन ने आई कैंडी (आंखों को लुभाने वाली) करार दिया था। आर्टिकल का शीर्षक था – ‘नो बोरिंग बाबू’। इसमें लिखा गया कि हर मीटिंग में मौजूद महिला आईएएस अपनी खूबसूरत साड़ियों की वजह से फैशन स्टेटमेंट साबित होती हैं और मीटिंग में मौजूद लोगों के लिए आई कैंडी भी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*