नीतीश का ‘चंचल’ मन

नीतीश कुमार की जबानी आपने कभी किसी मंत्री की तारीफ सुनी? नौकरशाह की? ऐसा कम ही होता है पर उस दिन नीतीश का चंचल मन, आईएएस चंचल कुमार के लिए कसीदे पढ़ रहा था.

चंचल को सम्मान

चंचल को सम्मान

बिरेंद्र कुमार यादव, वरिष्ठ पत्रकार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर यह आरोप लगता रहा है कि उनकी मंडली में राजनेताओं से ज्यादा नौकरशाहों की चलती है. इससे उन्होंने कभी इंकार भी नहीं किया है.दो सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारियों एनके सिंह और आरसीपी सिंह को उन्होंने राज्य सभा में भेजा.

माना यह भी जाता है कि राजनीतिक व प्रशासनिक मामलों में इन्हीं दोनों की सुनी जाती है. एक अन्य आइएफएस अधिकारी पवन कुमार वर्मा को नीतीश कुमार ने अपना सांस्कृतिक सलाहकार बनाया है.
इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए नीतीश कुमार ने 25 मई यानी शनिवार को युवा, कला व संस्कृति विभाग के सचिव चंचल कुमार की जम कर तारीफ की. उनकी राजनीतिक कौशल और कार्य दक्षता के कसीदे भी गढ़े. मौका था युवा, कला व संस्कृति विभाग के तत्वावधान में आयोजित कलाकार सम्मान समारोह का.

इस सम्मान समारोह में वास्तविक सम्मान संस्कृति सचिव चंचल कुमार का ही हुआ. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में चंचल कुमार के कार्यानुभवों की चर्चा करते हुए कहा कि वे हमारे साथ काफी समय से हैं. मेरे रेलमंत्रित्व काल में भी वे हमारे साथ थे. मुख्यमंत्री सचिवालय में रहते हुए उन्होंने काफी बढ़िया काम किया था. जो हम कार्य करना चाहते हैं, उसे वे बढ़िया ढंग से कार्यरूप देते हैं. उनकी कार्यदक्षता और कौशल को देखते हुए उन्हें संस्कृति विभाग में सचिव बनाकर भेजा और अब उसका असर भी विभाग में दिखने लगा है.

संस्कृति विभाग में पोस्टिंग को लोग अच्छा नहीं मानते थे. लेकिन चंचल कुमार ने साबित कर दिया है कि इस विभाग में भी काम करने के बेहतर मौके हैं और उन्होंने काम भी किया. उन्होंने बिहार के सांस्कृतिक परिदृश्य बदलने की हरसंभव कोशिश की. बिहार में सांस्कृतिक पुनर्जागरण का माहौल चंचल कुमार की वजह से ही बना है. इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं. मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान चंचल कुमार मंच पर बैठे-बैठे मंद-मंद मुस्कुराते रहे. मुख्यमंत्री ने अपने भाषण के दौरान शायद सोंचा की लगता है कि किसी एक अफरस की प्रशंसा कुछ ज्यादा ही हो गयी. सो उन्होंने ज्लद ही अपना ट्रैक बदला और बोले.सीएम सचिवालय में कार्य देख रहे दो अन्य आइएएस अधिकारी अतीश चंद्रा और अंजनी कुमार सिंह ने भी अच्छे काम किये हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*