नीतीश की चाणक्यीय चाल, भाजपा बेहाल: छीना विपक्ष का ताज

नीतीश की चाणक्यीय नीति पर अमल करते हुए विधानसभा अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी ने जेडीयू को सदन में विपक्ष का दर्जा दे कर भाजपा के किये कराये पर पानी फेर दिया है.sushil-nitish_350_062213121005

इतना ही नहीं मांझी द्वारा सदन में विश्वास मत हासिल करने के ठीक एक दिन पहले विधानसभा अध्यक्ष ने भाजपा से  विरोधी दल के नेता की पदवी भी छीन ली है और इस पद पर जद यू के नेता विजय चौधरी को  नियुक्त किया है.

जद यू के इस चाल का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि सदन में बहस के दौरान भाजपा की जगह जद यू को मिल जायेगा जिसके कारण भाजपा को आक्रमण करने का मौका न के बराबर मिलेगा.

इन फौसलों से तिलमिलाई भाजप ने इसका खासा विरोध भी जताया, लेकिन विरोध काम नहीं आया। बीजेपी ने नेता विपक्ष का दर्जा खत्म करने के फैसले के खिलाफ स्पीकर के चैंबर के बाहर प्रदर्शन भी किया.

बिहार में सियासी उठापटक अपने निर्णायक मोड़ पर आ चुका है.कल यानी 20 फरवरी को सीएम मांझी को विधानसभा में बहुमत साबित करना है. बीजेपी में उन्हें समर्थन को लेकर मंथन चल रहा है. उसके ज्यादातर एमएलए मांझी की हिमायत में हैं पर भाजपा आफिसियली अभी तक कोई फैसला नहीं कर पायी है. लेकिन इस बीच जेडीयू ने सियासी दांव खेलकर बीजेपी को पहली शिकस्त दे कर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने में सफल हो गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*