नीतीश कुमार को शराबबंदी के लिए मिला अणुव्रत सम्मान

नितीश ने कहा, “देश के विभिन्न इलाकों में जिस तरह से शराबबंदी लागू करने के लिए आवाज उठ रही है, मुझे विश्वास है कि उन इलाकों के शासक वर्ग पर जनभावना का असर होगा.
नौकरशाही डेस्क, पटना

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में शराबबंदी का फैसला राजनीतिक कारणों से नहीं बल्कि सामाजिक परिवर्तन की बुनियाद रखने के लिए लिया गया है.

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में शराबबंदी का फैसला राजनीतिक कारणों से नहीं बल्कि सामाजिक परिवर्तन की बुनियाद रखने के लिए लिया गया है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को शराबबंदी के लिए मिला जैन समुदाय का प्रसिद्ध अणुव्रत सम्मान
दिया गया. जैन श्वेतांबर तेरापंथ धर्म संघ के आचार्य महाश्रमण ने राज्यपाल रामनाथ कोविंद की उपस्थिति में नीतीश को इस पुरस्कार से सम्मानित किया. समाज में बेहतरीन और प्रेरणा स्रोत कार्य करने वालों को दिए जाने वाला यह पुरस्कार राज्य में पूर्ण शराबबंदी के लिए मुख्यमंत्री को प्रदान किया गया. सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में शराबबंदी का फैसला राजनीतिक कारणों से नहीं बल्कि सामाजिक परिवर्तन की बुनियाद रखने के लिए लिया गया है.

नितीश ने कहा सामाजिक परिवर्तन ज्यादा महत्वपूर्ण
नितीश ने कहा, “देश के विभिन्न इलाकों में जिस तरह से शराबबंदी लागू करने के लिए आवाज उठ रही है, मुझे विश्वास है कि उन इलाकों के शासक वर्ग पर जनभावना का असर होगा. सामाजिक परिवर्तन हमारे लिए राजकाज से कई गुणा अधिक महत्वपूर्ण है. वे प्रारंभ से ही शराब के खिलाफ रहे हैं. राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने कहा कि आज संपूर्ण विश्व हिंसा और आतंकवाद के खतरों से त्रस्त है. आज सभी आधयात्मिकता की ललक में पुन: भारतवर्ष की ओर आशा भरी निगाहों से देख रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*