नोटबंदी से भ्रष्‍टाचार रोकने में मिली सफलता

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि नोटबंदी के बाद उनके बारे में कहा जाने लगा था कि ‘अब मोदी गया’ लेकिन सरकार के इस कदम से लाखों करोड़ रुपये का छिपा हुआ धन बाहर लाने में सफलता मिली है।  श्री मोदी ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध बहुत बड़ी लड़ाई चलाने का ऐलान करते हुए कहा कि नोटबंदी के बाद तीन लाख करोड़ रुपये से अधिक अतिरिक्त धन बैंकों में आया है, जिसमें पौने दो लाख करोड़ रुपये की राशि शक के घेरे में है। 

देश के 71वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से संबोधित करते हुये श्री मोदी ने कहा कि उन्होंने भ्रष्टाचार के विरुद्ध बहुत बड़ी लड़ाई छेड़ी है, जो वस्तु एवं सेवा कर प्रणाली लागू होने के बाद और तेज़ होने वाली है। उन्होंने कहा कि तीन साल पहले विदेशों में जमा काले धन का पता लगाने के लिये गठित विशेष कार्यबल (एसआईटी) ने करीब सवा तीन लाख करोड़ रुपये की विशाल धनराशि का पता लगाया है और अब इस राशि को देश में लाने का प्रयास चल रहा है।
श्री मोदी ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध नोटबंदी को सफल बताते हुये कहा कि इसके माध्यम से काले धन को मुख्य धारा में लाने का प्रयास किया गया है। नोटबंदी से बैंकों में तीन लाख करोड़ रुपये अतिरिक्त आया है, जिसमें से पौने दो लाख करोड़ रुपये शक के घेरे में हैं और उसकी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि बैंकों में करीब दो लाख करोड़ रुपये का काला धन पहुंचा है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि नये काले धन का रास्ता रोकने की कवायद में भी सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि आज ईमानदारी का उत्सव मनाया जा रहा है और बेईमानों को लिए सिर छुपाने की जगह नहीं मिल रही है। अब गरीबों को लूटकर अपनी तिजोरी भरने वाले चैन से नहीं सो सकते। गरीबों के मन में यह विश्वास पैदा होने लगा है कि यह देश ईमानदारों के लिए है। उन्होंने कहा कि बेनामी संपत्ति रखने वाले परेशान हैं। गरीबों को पता चल गया है कि सरकार ने बड़ी मात्रा में बेनामी संपत्ति जब्त कर ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*