नौवीं की परीक्षा स्थगित होने से छात्रों का भविष्य अंधकार में

बिहार विधान परिषद में आज मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में नौंवी कक्षा की परीक्षा स्थगित किये जाने को लेकर शिक्षा विभाग को पूरी तरह से जिम्मेवार ठहराया । सभापति अवधेश नारायण सिंह के आसन ग्रहण करते ही भाजपा के रजनीश कुमार ने इस मामले को उठाते हुए कहा कि राज्य में 28 से 30 मार्च तक होने वाली नौंवी कक्षा की परीक्षा को राज्य सरकार द्वारा स्थगित कर दिये जाने के कारण 18 लाख परीक्षार्थियों के भविष्य पर संकट के बादल घिरे हुए है।

 

विधान परिषद में उठा मामला

उन्होंने कहा कि कई जिलों में प्रश्न पत्र की छपाई हो चुकी है, जिसके कारण राज्य सरकार पर वित्तीय बोझ पड़ा है। श्री कुमार ने कहा कि परीक्षा स्थगित होने से छात्रों के समक्ष अराजक स्थिति उत्पन्न हो गयी है। उन्होंने कहा कि परीक्षा स्थगित करने एवं छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने के लिए शिक्षा विभाग पूरी तरह से जिम्मेवार है।  इसी दौरान भाजपा के ही प्रो. नवल किशोर यादव ने कहा कि सरकार इतनी हड़बड़ी में क्यों है । प्रश्न पत्र छपवा लिया गया और परीक्षा को स्थगित कर दिया गया। उन्होंने कहा कि इस तरह की व्यवस्था सोच समझ कर सरकार को करनी चाहिए थी ।

 
वहीं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के केदार पांडेय ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि जिलों में नौंवी कक्षा का प्रश्न पत्र सौ-सौ रुपये में बेचा जा रहा है। इस पर सभापति श्री सिंह ने कहा कि गड़बड़ी की शिकायत उन्हें भी मिली है । इस संबंध में कल वह शिक्षा मंत्री और शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव के साथ एक बैठक कर बातचीत करेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*