पटना ब्लास्ट: जीतेंद्र, पप्पू व बिपत के खाते में आते थे पैसे

पटना ब्लास्ट के बाद गिरफ्तार गोपाल सूचना से पुलिस चकरा गयी है. वह अब झरिया के पप्पू साव, बिप्पत साव और जीतेंद्र साव की तलाश में है पाकिस्तान से इनके अकाउंट में ही पैसे आते थे.Patna_Bomb-Blast-Newskerala

लेकिन पुलिस इन मामलों पर खुल के बोलने से परहेज कर रही है.

इस बीच लखीसराय से गोपाल गोयल, विकास कुमार, गणेश प्रसाद और पवन कुमार की गिरफ्तारी के बाद सोमवार को आइजी मुख्यालय अनुपमा एस निलेकर चंद्रा लखीसराय पहुंची और मुंगेर डीआइजी सुधांशु कुमार एवं लखीसराय एसपी राजीव मिश्र के साथ पूरे मामले की समीक्षा की तथा अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी से लेकर आगे के अनुसंधान की रणनीति तैयार की.

गोपाल गोयल ने स्वीकार किया है कि उसके सहयोगी पप्पू साव, जीतेंद्र साव के अकाउंट में ही पाकिस्तान से पैसे आते थे. खबरों के अनुसार गोपाल के मोबाइल से ऐसे 39 नम्बर डिटेक्ट हुए हैं जो पाकिस्तान के हैं और उन नम्बरों से वह लगातार सम्पर्क में रहता था. बताया गया है कि पिछले दो सालों में उन लोगों के अकाउंट में 3 करोड़ से अधिक रूपये आये हैं. जाहिर है ये पैसे पाकिस्तानी आकाओं कने किसी खास मकसद के तहत भेज होंगे और इनके उपयोग के लिए खास दिशानिर्देश भी दिये गये होंगे. पुलिस इन गुत्थियों को सुलझाने में लगी है. बताया जा रहा है कि पुलिस इन ममालों की जांच के बात बड़े उद्भेजन की तैयारी में है.

बिहार पुलिस ने इस मामले को काफी गंभीरता से लिया है और इसी के मद्देनजर आईजी अनुपमा एस निलेकर को मुंगेर प्रमंडल के आला पुलिस अधिकारियों से मीटिंग के लिए भेजा गया था. उन्होंने सोमवार को मुंगेर प्रमंडल में पाकिस्तानी संगठन के फैले नेटवर्क और पटना ब्लास्ट के बाद मुंगेर प्रमंडल के सभी छह जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की है.

इस बीच अपुष्ट खबरों में बताया गया है कि पुलिस ने आयशा बानो को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया है. हालांकि इस बारे में पुलिस ने अभी तक कोई पुष्टि नहीं की है. आयशा के बारे में बताया जाता है कि गोपाल गोयल की वह सहयोगी है.
27 अक्टूबर को भाजपा की हुंकार रैली के दौरान पटना में हुए सीरियल ब्लास्ट के बाद पुलिस और एनआईए को कई चौंकाने वाली जानकारियां मिली हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*