पांच – छह सालों में पीएमसीएच बनेगा वर्ल्‍ड लेवल का अस्‍पताल : मुख्‍यमंत्री

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद भवन में 784 करोड़ की 301 स्वास्थ्य योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन करते हुए विश्वास जताया कि पांच-छह  साल में पीएमसीएच विश्व स्तर का अस्पताल बनकर तैयार हो जायेगा. हमारा  शुरू से सपना रहा है कि पीएमसीएच को विश्व स्तर का अस्पताल बनाया जाये. 5000 बेडों की क्षमता वाले पीएमसीएच को विश्वस्तरीय अस्पताल बनाने को लेकर  प्रेजेंटेशन दिखाया गया. इस अस्पताल की निर्माण अवधि आठ वर्ष है, लेकिन  मुझे उम्मीद है कि और कम समय में ही इसको पूरा कर लिया जायेगा.

नौकरशाही डेस्‍क

इससे पहले उन्‍होंने एमएसडीपी स्कीम के अंतर्गत अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अधीन दो सामुदायिक   स्वास्थ्य केंद्र, दो  अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र और 22 स्वास्थ्य  उपकेंद्र शामिल हैं. वहीं जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया, उनमें एमएसडीपी स्कीम के अंतर्गत अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अधीन 22 अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र और 121 स्वास्थ्य उपकेंद्र का शिलान्‍यास व उद्घाटन रिमोट के जरिये कहा. इस दौरान  उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार के लिए पूरी मुस्तैदी के साथ स्वास्थ्य विभाग काम कर रहा है.  वर्ष हमने 2005 में सत्ता संभाली थी, उस समय राज्य में स्वास्थ्य क्षेत्र की हालत बहुत खराब थी.

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य उपकेंद्रों में भी अब डॉक्टरों की तैनाती होगी. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग  पद सृजित करे. उन्होंने कहा कि अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर भी निरंतर  सारी सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए काम करने की जरूरत है. स्वास्थ्य उपकेंद्रों में अभी सिर्फ एएनएम रहती हैं. दवाएं और अन्य जरूरी चीजें भी उपलब्ध रहें, इस पर ध्यान देने की जरूरत है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि  अस्पतालों की साफ-सफाई और उन्हें सुसज्जित रखने की जरूरत है. अगर अस्पताल साफ-सुथरा और देखने में बेहतर हो तो इसका मनोवैज्ञानिक प्रभाव मरीजों के इलाज पर पड़ता है. राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है. राज्य में लोहिया स्वच्छता अभियान भी चलाया जा रहा है. अगर पीने का स्वच्छ पानी और स्वच्छता का ध्यान रखा जाये तो 90% बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है. बीमारियों के प्रति जागरूकता के लिए पंचायत स्तर पर स्वास्थ्य मेला लगाने की जरूरत है. कार्यक्रम को उपमुख्यमंत्री  सुशील कुमार  मोदी, स्वास्थ्य मंत्री   मंगल पांडेय, अल्पसंख्यक कल्याण एवं गन्ना उद्योग  मंत्री  खुर्शीद  उर्फ फिरोज अहमद ने भी संबोधित किया.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*